हर दिन, हर तारीख का इतिहास आज के दिन से जुड़ा हुआ है, लेकिन 10 जनवरी का इतिहास कई मायनों में खासतौर पर हिन्दी प्रेमी लोगों के लिए काफी अहम होता है। जी हां, आज हिन्दी विश्व दिवस है। पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए 2006 में प्रति वर्ष 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया था। इसलिए, आज के दिन को विश्व हिन्दी का विकास करने और एक अंतरराष्ट्रीय भाषा के तौर पर इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सम्मेलन की शुरुआत की गई।

World Hindi Day

देश दुनिया के इतिहास में 10 जनवरी की तारीख में दर्ज कुछ ज़रुरी घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा इस प्रकार है। साल 1616 ब्रिटिश राजदूत सर थॉमस रो ने अजमेर में मुगल बादशाह जहांगीर से मुलाकात की थी। साल 1692: कलकत्ता के संस्थापक जॉब कारनॉक का कलकत्ता में निधन हुआ था। साल 1818: मराठा सेना और ब्रिटिश सेना के बीच रामपुरा में तीसरा और अंतिम लड़ाई हुई, जिसके बाद मराठा नेता भंग हो गई थी। साल 1836: प्रोफेसर मधुसूदन गुप्ता ने पहली बार मानव शरीर की आंतरिक सरंचना का अध्ययन किया। साल 1886 को भारत के शिक्षाविद, अर्थशास्त्री एवं न्यायविद् जॉन मथाई का जन्म हुआ था। 1908 हिन्दी के निबन्धकार और साहित्यकार पद्मानारायण राय का जन्म।

जरुर पढ़ें:  बिना हेलमेट स्कूटी पर प्रियंका वाड्रा, महिला एसएसपी का बयान - नहीं की कोई अभद्रता
World Hindi Day

साल 1912: सम्राट जार्ज पंचम और रानी मेरी भारत से रवाना हो गए। 1940 भारतीय पाशर्व गायक और शास्त्रीय संगीतकार के. जे येसुदास का जन्म।1946: लंदन में संयुक्त राष्ट्र  महासभा की पहली बैठक में 51 राष्ट्रों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। 1969:प्रसिद्ध राजनेता एंव लेखक सम्पूर्णानंद का निधन।1974: भारतीय अभिनेता त्रतिक रोशनन का जन्म हुआ था।1972 पाकिस्तान की जेल में नौ महीने से अधिक समय तक कैद रहने के बाद शेख मुजीब-उर-रहमान स्वतंत्र राष्ट्र बने बांग्लादेश पंहुचे।1975 नागपुर में प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन का आयोजन। 1987 पूरी दुनिया का चक्कर लगाने का पहला मौका अभियान बम्बई में पूरी हुआ।

Loading...