लोकसभा चुनाव में 4 चरणों की वोटिंग हो चुकी है और महज 3 चरणों की वोटिंग बाकी है. लेकिन इस चुनावी माहौल में आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला अभी भी जारी है. छठें चरण में दिल्ली में होने वाले चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी ने बीजेपी के पश्चिमी दिल्ली से उम्मीदवार हंसराज हंस पर गंभीर आरोप लगाए है. दरअसल, चुनाव के माहौल में जाति धर्म पर सवाल उठना अब लाजिमी सा हो गया है. कोई किसी के धर्म पर सवाल उठाता है तो कोई आस्था पर लेकिन आम आदमी पार्टी के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने ट्वीट कर बीजेपी प्रत्याक्षी को मुसलमान ही बता दिया

जी हां, ‘कच्चे धागे’ फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखने वाले हंस ने ‘नायक’, ‘ब्लैक’, ‘बिच्छू’ समेत दर्जनों फिल्मों के लिए गीत गाए हैं. लेकिन मशहूर सूफी सिंगर हंसराज हंस पर मुस्लामन होने के आरोप लगाए जा रहे है.राजेंद्र पाल गौतम के ट्वीट को अरविंद केजरीवाल ने रिट्वीट कर लिखा कि हंसराज हंस सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ने के योग्य नहीं हैं. अंत में वह अयोग्य करार दिए जाएंगे. उत्तर पश्चिम दिल्ली के मतदाताओं को उन्हें वोट देकर अपना कीमती वोट बर्बाद नहीं करना चाहिए.

दरअसल, दिल्ली की उत्तर पश्चिमी लोकसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है. लेकिन बीजेपी ने जो अपना प्रत्याशी उतारा है वह अनुसूचित जाति का है ही नहीं. आप ने ये आरोप लगाया कि नामांकन पत्र में बीजेपी के प्रत्याशी ने कुछ जानकारियां छुपाई गई हैं।

जरुर पढ़ें:  प्रियंका गांधी आज अयोध्या में करेंगी रोड शो..

अब हम आपको बताते है, हंसराज हंस पर मुस्लिम होने के आरोप क्यों लग रहे है. दरअसल, 20 फरवरी 2014 को पाकिस्तानी अफ़ेयर्स और यू न्यूज़ टीवी पोर्टल ने दावा किया था कि हंस पिछले काफी समय से इस्लामिक लिटरेचर की पढ़ाई कर रहे हैं और इस दौरान इस्लाम धर्म में उनकी आस्था बढ़ गई है. यही कारण है कि उन्होंने इस्लाम अपनाने का फैसला किया खबरों के मुताबिक हंस ने अपना नाम बदलकर मोहम्मद युसूफ रख लिया है लेकिन वो म्यूज़िक इंडस्ट्री में अपने असली नाम का ही इस्तेमाल करेंगे हालांकि भारत में उनके परिवार ने इन खबरों को साफ तौर पर नकार दिया था. हंस के बेटे ने इन खबरों को बेबुनियाद बताया था. लेकिन आम आदमी के मुताबिक बीजेपी प्रत्याक्षी ने जानकारी छिपाकर चुनाव आयोग के कानूनों का उल्लंघन किया हआप ने कहा हमारी लीगल टीम कोर्ट में याचिका दायर करेगी और कोर्ट से अपील करेगी कि तुरंत प्रभाव से बीजेपी उम्मीदवार हंसराज हंस उर्फ मोहम्मद यूसुफ का नामांकन रद्द किया जाए ।

जरुर पढ़ें:  मध्यप्रदेश चुनाव: शिवराज के बेटे ने किया राहुल गांधी पर केस, जानें क्या है मामला?

लेकिन आप की तरफ से लगाए जा रहे आरोपों को हंस राज हंस ने बेबुनियाद बता दिया है. दरअसल एक इंटरव्यू में हंस ने अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि कि जब कहीं भी इलेक्शन होता है,अरविंद केजरीवाल झूठे इल्जाम लगाने लगते हैं. ”ये उनकी आदत है. बाद में इलेक्शन खत्म होते ही माफी मांग लेते हैं.केजरीवाल को ये नहीं पता वाल्मीकि कौन हैं. मैं वाल्मीकि सफाई कर्मचारी यूनियन का चेयरमैन भी हूं. वाल्मीकि अमृतसर ट्रस्ट का वाइसचेयरमैन भी हूं. सारे संतों ने मुझे वाल्मीकि समाज का बच्चा घोषित किया हुआ है. मैं जन्मजात वाल्मीकि हूं. मैंने एफिडेविट दिया है. हम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का केस करेंगे. केजरीवाल मेरे गुरु वाल्मीकिजी की तौहीन कर रहे हैं. मेरे समाज का और मेरे गुरु का अपमान कर रहे हैं. सिर्फ एक सीट के लिए इतना बड़ा झूठ बोल रहे हैं”।

जरुर पढ़ें:  राहुल ने मां पीताम्बरा पीठ पर माथा टेका, इतनी सीटों पर राहुल की नजर

लोकगायक के रूप में मशहूर हंस को हिंदी फिल्म बिच्छू के एक गीत दिल टोटे टोटे हो गया से खासी प्रसिद्धि मिली थी. इस सीट पर मुकाबला त्रिकोणीय माना जा है. सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने गुग्गन सिंह को तो कांग्रेस ने राजेश लिलोठिया को यहां से टिकट दिया है.देखना ये होगा की दिल्ली की इस सीट पर बाजी कौन मारता है ।

Loading...
पत्रकारिता में स्नातक की उपाधि लेने के बाद, आकाश ने मीडिया जगत की तरफ रुख किया। पढ़ने और लेखन का पुराना शौक, उन्हें 'कलम से कमाल' करने में माहिर बनाता है। TVP के लिए एक स्वच्छंद पत्रकार के तौर पर आकाश लगातार Trending Viral Post के पाठकों के लिए लिख रहे हैं।