लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में सभी पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी है. भारत में 7वें चरण के मतदान 19 मई को होंगे. जिसमें 9 राज्यों की 72 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. जिसमें से बीजेपी का सबसे ज्यादा ध्यान बंगाल की 9 सीटों पर है. बंगाल में आज प्रचार का आखिरी दिन है. इसलिए बीजेपी ने अपने विवादित नेताओं की लिस्ट में सबसे ऊपर रहने वाले गिरिराज सिंह को प्रचार के लिए चुनावी मैदान में उतार दिया है. प्रचार के अलावा वह आज शाम कोलकाता में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे. बिहार के बेगुसराय से चुनाव लड़ रहे गिरिराज शाम पांच बजे कोलकाता में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. बाद में वह कोलकाता उत्तर लोकसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित करेंगे ।

जरुर पढ़ें:  सुरक्षाबलों की भारी तैनाती से घाटी में हड़कंप, उमर बोले- संसद में कश्मीर पर नीयत साफ करे केंद्र

दरअसल पश्चिम बंगाल की स्थिती को देखते हुए तय समय से एक दिन पहले ही चुनाव आयोग ने वहां प्रचार पर रोक लगा दी है, ऐसे में भाजपा ने अपनी चुनावी कामान तेज कर ली है. भाजपा ने चुनाव आयोग के इस फैसले का फायदा उठाते हुए अपने फायर ब्रांड नेता को मैदान में उतार दिया है. पश्चिम बंगाल में छठे चरण के बाद से ही टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच लगातार हिंसा की खबरें सामने आ रही है. चुनाव के इस अंतिम दौर में विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो चुका है. दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच इस लड़ाई ने अब दुश्मनी में बदल गई है ।

जरुर पढ़ें:  मायावती ने कांग्रेस का रिटर्न गिफ्ट नकारा, कहा- अकेले ही BJP को हराने में हैं सक्षम..

चुनाव के दौरान बंगाल में भड़की हिंसा पर गिरिराज सिंह ने खासी नाराजगी जताई है और इसके लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निसाना साधा. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में आज एक-एक मतदाता जाग चुका है. रावण रूपी ममता बनर्जी को अंहकार को तोड़ने के लिए हमारे जैसे लोग भी बंगाल में जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी चाहे कितने लोगों को जेल में बंद कर लें या लाठियां बरसा लें, उन्हें फर्क नहीं पड़ता। अब पूरा बंगाल ममता के खिलाफ खड़ा होगा।

सिंह ने आगे कहा, ’23 तारीख तक बंगाल में संविधान संकट बना हुआ है, राज्य की मुख्यमंत्री ही आतंकवादी बन गई हैं। आतंकवाद फैला रहीं हैं, राजनीतिक आतंकवाद फैला रहीं हैं। इसलिए चुनाव आयोग राष्ट्रपति से मिलकर बंगाल में 23 तारीख तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था बनाए ताकि वहां का मुख्यमंत्री मतदाताओं को प्रभआवित ना करे।’

Loading...
पत्रकारिता में स्नातक की उपाधि लेने के बाद, आकाश ने मीडिया जगत की तरफ रुख किया। पढ़ने और लेखन का पुराना शौक, उन्हें 'कलम से कमाल' करने में माहिर बनाता है। TVP के लिए एक स्वच्छंद पत्रकार के तौर पर आकाश लगातार Trending Viral Post के पाठकों के लिए लिख रहे हैं।