बिहार में कांग्रेस ने ऐन वक्त पर अपने उम्मीवारों की घोषणा रोक दी है, जबकि दूसरे चरण में बिहार के जिन पांच लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव होने हैं उनमें पूर्णिया, कटिहार और किशनगंज सीटें कांग्रेस के खाते में गई हैं. उम्मीदवारों की घोषणा के लिए महागठबंधन ने पटना में आनन-फानन में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई. आरजेडी ने दो सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया. आरजेडी ने भागलपुर से शैलेश कुमार उर्फ बूलो मंडल और बांका से जयप्रकाश यादव को मैदान में उतारा है. हालांकि कांग्रेस के खाते में गई कटिहार, पूर्णिया और किशनगंज सीट पर उम्मीदवारों की घोषणा रोक दी गई है.

बताया जा रहा है कि महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस आलाकमान खुश नहीं हैं. शनिवार को पूर्णिया में रैली करने आए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को जो जानकारी दी गई, वो अच्छी नहीं थी. यही कारण है कि उन्होंने कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल और प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा समेत कई नेताओं को दिल्ली तलब किया है.

जरुर पढ़ें:  ममता की मोदी सरकार के खिलाफ विशाल रैली को चिट्ठी लिख कर राहुल ने जताया समर्थन!

महागठबंधन के प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूदा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता हरखू झा ने कहा कि उन्हें दिल्ली से सूचना दी गई कि कांग्रेस अपने उम्मीदवारों की घोषणा दिल्ली में बैठक खत्म होने के बाद करेगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली से प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने उन्हें फोन कर ऐसा करने को कहा है. जबकि उम्मीदवारों की लिस्ट बिल्कुल तय मानी जा रही थी. खास कर कटिहार से एनसीपी से कांग्रेस में आए तारिक अनवर और पूर्णिया के लिए हाल में बीजेपी से कांग्रेस में गए उदय सिंह उर्फ पप्पू सिंह को टिकट मिलना तय माना जा रहा था. लेकिन ऐन वक्त पर कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों का ऐलान नहीं किया.

जरुर पढ़ें:  राहुल ने पुलवामा आतंकी हमले पर कि प्रेस कॉन्फेंस, जानिए क्या बोले

माना जा रहा है कि सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस और आरजेडी में डील पूरी तरह से नहीं हो पाई है. सीट बंटवारे के ऐलान के दिन भी तेजस्वी यादव नदारद रहे जबकि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा और आरजेडी के मनोज झा के बीतचीत का जो वीडियो वायरल हुआ, वो बहुत कुछ बताने के लिए काफी है.

गौरतलब है कि चुनावी रैली के लिए पूर्णिया आए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सीट बंटवारे से जुड़ी जानकारी देने के बाद राहुल गांधी के साथ बिहार कांग्रेस के 3 बड़े नेता शक्ति सिंह गोहिल, मदन मोहन झा और अखिलेश सिंह दिल्ली रवाना हो गए हैं. खबर ऐसी है कि राहुल गांधी सीट बंटवारे को लेकर नाखुश हैं. ऐसे में राहुल गांधी ने इन तीन नेताओं को दिल्ली तलब कर लिया है. खबर तो ये भी है कि सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकती है. शनिवार को पूर्णिया में हुई राहुल गांधी की सभा से भी आरजेडी ने दूरी बना ली थी. महागठबंधन के पहले चुनावी शो से तेजस्वी यादव भी नदारद थे.

जरुर पढ़ें:  विधानसभा चुनाव- छत्तीसगढ़ कांग्रेस की पहली लिस्ट जारी, ये होंगे उम्मीदवार

इन सभी घटनाक्रमों से साफ है कि बिहार में महागठबंधन के साथ सबकुछ ठीक नहीं चल रहा. अगर सब कुछ ठीक होता तो आरजेडी की तरह कांग्रेस भी अपने उम्मीदवारों का ऐलान करती लेकिन ऐसा नहीं होना कहीं न कहीं सीट बंटवारे में नाखुशी की ओर इशारा कर रहा है.

Loading...