चुनाव आने वाले हैं, या यूं कहे कि आ चुके हैं. इसलिए राजनीतिक दलों ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है. कभी थ्रीडी में भाषण देकर और चाय पर चर्चा करके लोगों को वोट हासिल करने वाली बीजेपी इस बार कुछ नया करने जा रही है. नया ये है कि बीजेपी नेता आपको जादू दिखाएंगे. जीहां, मोदी मैजिक के फीका होते देख, लोगों पर अपना जादू छोड़ने के लिए बीजेपी जादूगरों का सहारा लेंगी. आने वाले दिनों में अगर आप नेताओं का भाषण सुनने जाए और वहां आपको नेताजी के साथ-साथ दो चार जादूगर भी मिल जाएं तो हैरान मत होइएगा.

बीजेपी ऑफिस में जादूगर फाइल फोटो

जादूगर बीजेपी के कामों को बाद में बताएंगे. पहले वो ये बताएंगे, कि 60 साल में कांग्रेस ने क्या नहीं किया है. ये खुद बीजेपी प्रवक्ता ने बताया. मतलब जादूगर पहले कांग्रेस की नाकामियां गिनवाएंगे और फिर बीजेपी की कामयाबियों को बताएंगे. मध्य प्रदेश में बीजेपी लगातार चौथी बार सत्ता में वापसी के लिए जादूगरों के भरोसे ही दिख रही है. ये यूनिक आइडिया शिवराज सरकार जनता का दिल जीतने के लिए इस्तेमाल करेगी इसकी पुष्टी प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कर दी है.

जरुर पढ़ें:  फिर लगा कांग्रेस को झटका, वरिष्ठ कांग्रेस नेता टॉम वडक्कन BJP में हुए शामिल..
रजनीश अग्रवाल, मप्र बीजेपी प्रवक्ता

रजनीश अग्रवाल ने कहा है, कि ‘हम कैंपन और पब्लिसिटी के लिए जादूगरों का सहारा लेने की तैयारी में है। पार्टी 15 सालों के दौरान किए गए कामों को हाइलाइट करने और पिछली कांग्रेस सरकार से इसकी तुलना जनता तक पहुंचाने के लिए जादूगरों की मदद लेगी.’ बीजेपी प्रवक्ता ने ये भी बताया कि ‘मैजिक शो का आयोजन खासकर ग्रामीण और सेमी अर्बन बाजारों में किया जाएगा ताकि यहां के वोटरों तक पहुंचा जा सके.’

हालांकि पार्टी अभी कितने जादूगरों का इस काम के लिए इसतेमाल करेगी इसका फैसला अभी नहीं हुआ है. पार्टी का प्लान है कि कमजोर और गरीब वर्ग जो नेताओं की चिकनी चुपड़ी बातों को नहीं समझ पाता है, उसे जादूगरों के ज़रिए बीजेपी सरकार के 15 साल के कामों को बताया जाएगा.

जरुर पढ़ें:  मायावती के बाद अब अखिलेश यादव की कांग्रेस को लताड़, कहा-कन्फ्यूजन न पैदा करें..
गुजरात चुनाव में जादू दिखाते जादूगर

आपको बता दें, कि बीजेपी गुजरात चुनाव में ये प्रयोग कर चुकी है. यहां बीजेपी ने ‘मैजिक कैंपेन’ शुरू किया था. बीस दिन चले इस “मैजिक कैंपेन” के तहत 36 जादूगर गुजरात के 800 गांवों में गए थे. इन जादूगरों ने 144 सीटों में आने वाले गांवों को कवर किया था.

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। यहां एक ही चरण में चुनाव होने वाले हैं. चुनाव से पहले आए सर्वे भी प्रदेश में कांटे की टक्कर बता रहे हैं. कांग्रेस भी पूरी कोशिश में जुटी है, कि आम चुनावों से पहले मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल कर बीजेपी के प्लान 2019 में ब्रेक लगा दे.

Loading...