लोकसभा चुनाव पास आने के साथ ही चुनावी माहौल और भी गर्म होता जा रहा है. राजनीतिक दलो ने अपनी अपनी कमर कसते हुए चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. कहीं कोई पार्टी प्रचार प्रसार के जरिए जनता से वोट अपील कर रही है. तो कहीं कुछ पार्टियां दूसरी पार्टियों से गठबंधन कर अपनी पार्टी को मजबूत बनाने में लगी हैं. बीते दिनों सपा-बसपा गठबंधन की खबरों ने काफी जोर पकड़ा था. तो वहीं पिछले कुछ समय से ‘आप’ और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर भी काफी कसमकस चल रही है.

बीते कुछ समय से ऐसी खबरें आ रही थीं कि कांग्रेस और ‘आप‘ के बीच जल्द ही गठबंदन हो सकता है. ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि कांग्रेस ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) से गठबंधन से इनकार कर दिया है.

जरुर पढ़ें:  मायावती के बाद अब अखिलेश यादव की कांग्रेस को लताड़, कहा-कन्फ्यूजन न पैदा करें..

आप के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने शीला दीक्षित के बयान पर कहा कि हमने राहुल गांधी से मुलाकात की थी, शीला दीक्षित महत्वपूर्ण नेता नहीं हैं. दरअसल दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने दावा किया था कि अरविंद केजरीवाल ने गठबंधन को लेकर संपर्क नहीं किया.

बता दें कि केजरीवाल कई मौकों पर कांग्रेस से गठबंधन की अपील कर चुके हैं. तो वहीं कांग्रेस में इस मुद्दें पर राय बटी है. जहां शीला दीक्षित गठबंधन का विरोध कर रही हैं. तो वहीं पीसी चाको समेत कई नेताओं ने गठबंधन की अपील की है. इस संबंध में अब राहुल गांधी को फैसला लेना है.

जरुर पढ़ें:  इंदौर में प्रिंयका के रोड शो के दौरान लोगों ने लगाए 'मोदी - मोदी' के नारे

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस नेतृत्व और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत का दौर अब भी जारी है. आम आदमी पार्टी पंजाब और हरियाणा में अधिक सीटें मांग रही है, इसके लिए कांग्रेस तैयार नहीं है. वहीं दिल्ली में भी आम आदमी पार्टी कांग्रेस को मात्र दो सीटें देना चाहती है. जबकि कांग्रेस कम से कम तीन सीटों की मांग कर रही है.

 

 

 

Loading...