लोकसभा चुनाव 2019 की घोषणा के बाद राज्य में कांग्रेस चुनाव में जीत हांसिल करने के लिए कड़ तैयारियां कर रहा है. जिसके लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से एआईसीसी ने एक आदेश जारी किया है. जिसके बाद कांग्रेस के मंत्रियों और विधायकों के बीच हड़कंप मचा हुआ है.

खबरों के अनुसार , इस आदेश में कहा गया है कि लोकसभा चुनाव में हार की स्थिति में प्रभारी मंत्री के पद पर गाज गिर सकती है. वहीं, बेहतर प्रदर्शन करने वाले विधायकों को मंत्री पद से नवाजा जा सकता है. जिसके बाद राज्य सहित कांग्रेस शासित राज्यों में हड़कंप मचा हुआ है.

जरुर पढ़ें:  अनुच्छेद 35 ए पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले, जम्मू कश्मीर में सरकार कि बड़ी कार्यवाई

बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने एक रोडमैप बनाया है. जिसमें पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस विधायकों और मंत्रियों की चुनाव में जिम्मेदारी तय की है. पार्टी उम्मीदवार के जीतने की स्थिति में विधायक और मंत्री का कद बढ़ने की बात कही जा रही है. आपको बता दें कि, कांग्रेस शासित राज्यों में हर मंत्री को जिला का प्रभारी मंत्री के अलावा लोकसभा सीटों का प्रभारी बनाया गया है.

इस मुद्दे पर राजस्थान बीजेपी के प्रदेश मंत्री मुकेश दाधीच ने चुटकी लेते हुए कहा कि राजस्थान सहित देश के सभी राज्यों में कांग्रेस की हालत बेहद खस्ता है. कांग्रेस को चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ेगा. ऐसे में कहीं ऐसा नहीं हो कि कांग्रेस शासित राज्यों में पूरा का पूरा मंत्रिमंडल ही बदलना पड़ जाए.

जरुर पढ़ें:  राजनीतिक पार्टियों ने प्रचार के लिए अपनाया अनोखा तरीका

लोकसभा चुनाव अब कांग्रेस के मंत्रियों के लिए बीकई में बड़ी चुनौती बन टुका है. उन्हें खुद के मंत्री पद को बचाने के लिए प्रत्याशियों को जिताने के लिए पूरी ताकत लगानी होगी. साथ ही उन विधायकों के लिये भी सुनहरा अवसर है जिन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल पाई थी. ऐसे में अब देखना होगा लोकसभा चुनाव का परिणाम कितने मंत्रियों के लिए फायदेमंद साबित होगा और कितने मंत्रियों के लिए बैड न्यूज़.

Loading...
पत्रकारिता में स्नातक की उपाधि लेने के बाद, आकाश ने मीडिया जगत की तरफ रुख किया। पढ़ने और लेखन का पुराना शौक, उन्हें 'कलम से कमाल' करने में माहिर बनाता है। TVP के लिए एक स्वच्छंद पत्रकार के तौर पर आकाश लगातार Trending Viral Post के पाठकों के लिए लिख रहे हैं।