चुनावी मौसम में चुनाव की तारीख नज़दीक आते ही नेताओं की बयानबाज़ी और एक दूसरों पर आरोप लगाने की बौछार भी तेज़ हो गई है. मध्यप्रदेश के दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी ने उज्जैन में बाबा महाकाल के दर्शन कर अपने पिता और मां की तरह ही जीत के लिए यहां दुआ मांगी और इसके बाद वो इंदौर पहुंचे, जहां उन्होंने ऐसा कुछ कह दिया, जिसके बाद उनकी मुश्किलें बढ़नी तय है.
सोमवार को राहुल गांधी ने बीजेपी के गढ़ कहे जाने वाले इंदौर में रोड शो किया और अपनी ताकत का अहसास भी कराया, लेकिन इस दौरान उन्‍होंने पनामा पेपर और व्‍यापम का जिक्र करते हुए शिवराज और उनके बेटे कार्तिकेय को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया. फिर क्या था अपने बेटे का नाम राहुल गांधी के मुंह से सुनकर शिवराज सिंह चौहान आग बबूला हो गए. और सीएम शिवराज सिंह ने ऐलान कर दिया, कि वो कांग्रेस अध्‍यक्ष के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे. शिवराज सिंह ने ये एलान ट्वीट कर किया.


ट्वीट में आप देख सकते हैं, कि शिवराज सिंह चौहान ने लिखा है- ‘पिछले कई वर्षों से कांग्रेस मेरे और मेरे परिवार के ऊपर अनर्गल आरोप लगा रही है। हम सबका सम्मान करते हुए मर्यादा रखते हैं, लेकिन आज तो राहुल गांधी ने मेरे बेटे कार्तिकेय का नाम पनामा पेपर्स में आया है, यह कहकर, सारी हदें पार कर दी। हम उन पर आपराधिक मानहानि का केस करने जा रहे हैं।’

जरुर पढ़ें:  बीजेपी ने चुनाव आयोग को दिखाया ठेंगा! स्कूली बच्चों को उतारा में चुनावी आखाड़े में

राहुल गांधी के इंदौर रोड शो के दौरान कई जगहों पर ‘हर-हर महादेव’ के नारे लगे. सूबे के मालवा-निमाड़ क्षेत्र की दो दिवसीय चुनावी मुहिम पर निकले कांग्रेस अध्यक्ष ने हाथ हिलाकर और हाथ जोड़कर जनता का अभिवादन किया. इस रैली में उन्होंने लोगों से ये भी पूछा, कि ‘क्या इंदौर के दुकानदारों को गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) से फायदा हुआ?’ राहुल गांधी ने यहां ये भी एलान किया, कि 2019 के लोकसभा चुनावों में अगर कांग्रेस की सरकार बनती है, तो ‘सही जीएसटी’ पेश किया जाएगा और इसके तहत ‘एक कर’ और ‘कम कर’ की भ्रष्टाचारमुक्त प्रणाली को अमली जामा पहनाया जाएगा.

Loading...