सूफी गायक राहत फतेह अली खान पर विदेशी मुद्रा की स्मगलिंग करने का आरोप लगा है. इस मामले की जांच कर रही ईडी ने राहत फतेह अली खान को फेमा के तहत शोकाज नोटिस भेजकर जवाब मांगा है.

बता दें अगर ईडी राहत के जवाब से संतुष्ट नहीं होता है तो उनपर 300 प्रतिशत का जुर्माना लग सकता है. जुर्माना न भरने की स्थिति में राहत के खिलाफ भारत में लुकआउट नोटिस जारी हो सकता है, इसी के साथ भारत में राहत के कार्यक्रमों पर भी रोक लग सकती है.

राहत फतेह अली को भारत में अवैध तरीके से तीन लाख चालीस हजार यूएस डॉलर मिले थे. इनमें से राहत ने दो लाख पच्चीस हजार डॉलर की स्मगलिंग कर दी थी. साल 2011 में राहत फतेह अली खान को दिल्ली के IGI एयरपोर्ट पर सवा लाख डॉलर के सात गिरफ्तार किया गया था. राहत के पास इन पैसों के कोई दस्तावेज नहीं थे. राहत के साथ उनके प्रबंधक मारूफ और इवेंट मैनेजर चित्रेश को भी हिरासत में लिया गया था.

जरुर पढ़ें:  रोहित शेट्टी बनाएंगे 100 करोड़ की फिल्म, रणवीर के बाद अब इस एक्टर के साथ करेंगे काम!

इन लोगों को तब हिरासत में लिया गया था जब वे दुबई के रास्ते लाहौर जाने वाले थे. राहत के बैग से 24 हजार डॉलर जबकि दल के दो अन्य सदस्यों के बैग से 50-50 हजार डॉलर बरामद किए गए थे. ये तीनों 16 सदस्यीय दल का हिस्सा थे. डीआरआई ने उस समय कहा था राहत के पास जितनी मुद्रा थी वह दी गई अनुमति की सीमा से काफी अधिक थी.

राहत फतेह अली खान ने बॉलीवडु में साल 2003 से करियर की शुरुआत की. उन्होंने फिल्म पाप में ‘लागी तुझसे मन की लगन’ गाना गाया, फिल्म ‘इश्किया’ के गाने ‘दिल तो बच्चा है जी’ के लिए राहत को फिल्म फेयर अवॉर्ड मिल चुका है.

Loading...