पटना। #मीटू कैंपेन के जरिए जहां एक तरफ बॉलीवुड की कई हस्तियों ने आरोप लगाए हैं। कई बड़े-बड़े नाम भी इसमें शामिल हो चुके हैं। इसमें कई हस्तियां घिरती नजर आ रही हैं। तनुश्री दत्ता का नाना पाटेकर के खिलाफ आरोप लगाने से शुरू हुआ यह मूवमेंट निर्देशक विकास बहल, अभिजीत भट्टाचार्य, रजत कपूर जैसे नामों को हेरेसमेंट के आरोपों में समेट चुका है।

हालांकि एक तरफ जहां खेल से लेकर बॉलीवुड इंडस्ट्री तक इस मामले में घिरते नजर आ रहे हैं। वहीं बेहद ही हॉट कंटेंट परोसने वाली भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री से अभी तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है। लेकिन सवाल यह है कि क्या वाकई भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में इस तरह के वाक्ये नहीं होते हैं या फिर वे किसी वजह से बाहर नहीं आ पाते।

जरुर पढ़ें:  मुंबई पुलिस ने ट्वीट किया रणवीर सिंह की 'गली ब्वॉय' का फनी मीम्स, वजह जान हंस पड़ेंगे आप भी

आज से करीब 6 महीने पहले एक पोस्ट लिखी गई थी पत्रकार शशिकांत सिंह द्वारा। शशिकांत सिंह अपने पोस्ट में लिखते हैं कि उनके सूत्रों से पता चला कि भोजपुरी के स्टार पवन सिंह ने अभिनेत्री अक्षरा सिंह की नशे में जमकर पिटाई की। पोस्ट में लिखा गया है कि पवन सिंह ने नशे की हालत में सिलवासा के एक होटल में अक्षरा सिंह के साथ मारपीट की।

यह पोस्ट फेसबुक पर 31 मार्च को लिखी गई थी। पोस्ट में जिक्र किया गया है कि ‘अक्षरा सिंह की फिल्म की शूटिंग खत्म हो गई थी। उन्हें मुंबई वापस लौटना था। लेकिन रात हो गई थी। चूंकि उन्हें गाड़ी खुद ही चलाना था लिहाजा उस रात वो सिलवासा के एक होटल में ही रूक गईं। लेकिन रात में अक्षरा सिंह के साथ पवन सिंह ने मारपीट की घटना को अंजाम दिया।

जरुर पढ़ें:  अंबानी के बेटे आकाश की शादी की डेट हुई फाइनल, तीन दिनों तक चलेगी रसमें

पवन सिंह की आवाज सुनकर होटल के कर्मचारी भी वहां पहुंचे और अहंकार में चूर व नशे में धुत पवन सिंह ने फिर अक्षरा सिंह की पिटाई की।’ हालांकि भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अभी कैमरे के पीछे इस तरह का वाकया सामने नहीं आया है। भोजपुरी सिनेमा से निकलने वाले स्टार मनोज तिवारी, रवि किशन और रितेश पांडे जैसे कलाकार अपनी साफ छवि के लिए जाने जाते हैं।

बहरहाल ताजा मामले में महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने तनुश्री दत्ता के मामले में अभिनेता नाना पाटेकर को नोटिस जारी करते हुए 10 दिनों के अंदर जवाब देने को कहा है।

Loading...