पाकिस्तान में दो नाबालिग हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का मामला सामने आया है. होली के दिन दो नाबालिग लड़कियों को पहले अगवा कर लिया गया, फिर जबरन उन्हें इस्लाम धर्म कबूल करवाया गया और उनकी शादी कर दी गई.

घटना सिंध प्रांत के घोटकी जिले के दहारकी शहर की है. घटना के विरोध में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोगों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए इमरान खान सरकार से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की. जिसके बाद कराची पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज किया

इस मामले में कराची में रहने वाले पाकिस्तान हिंदू सेवा वेल्फेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष संजेश धंजा ने बताया कि होली के दिन 15 साल की सीमा (बदला हुआ नाम) और 13 साल की रवीना (बदला हुआ नाम) का अपहरण हुआ था. इसके बाद उनका जबरन धर्म परिवर्तन करते हुए निकाह करा दिया गया.

जरुर पढ़ें:  बंगाल में भड़की हिंसा के बाद शाह के खिलाफ शिकायत दर्ज, हिरासत में बीजेपी के कई नेता..

हालांकि, बाद में एक वीडियो भी जारी किया गया. जिसमें दोनों लड़कियों दावा कर रही हैं कि उनपर कोई जबरदस्ती नहीं की गई है. दोनों ने अपनी मर्जी से इस्लाम कबूल किया है और शादी की है.

इस मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रिपोर्ट मांगी है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”मैंने पाकिस्तान में स्थित भारतीय उच्चायोग से कहा है कि वह पूरे मामले में हमें रिपोर्ट दें. पाकिस्तान के सिंध में दो हिंदू लड़कियों का होली से एक दिन पहले अपहरण किया गया.”

बता दें कि इससे पहले फरवरी में भी एक ईसाई लड़की सदफ खान का अपहरण कर लिया गया था जिसका बाद में धर्म परिवर्तन कर एक मुस्लिम से शादी करवा दी गई थी.

Loading...