नई दिल्ली। दुनिया की दिग्गज कंपनी गूगल ने अपने 48 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। गूगल ने गुरुवार को कहा कि यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे 48 कर्मचारियों को नौकरी ने बाहर किया गया है। इसमें 13 वरिष्ठ प्रबंधक भी शामिल हैं।

बता दें कि गूगल का ये जबाव न्यूयार्क टाइम्स के उस खबर के बाद आई है जिसमें कहा गया कि गूगल के एक वरिष्ठ कर्मचारी, एंड्रॉयड का निर्माण करने वाले एंडी रुबिन पर कदाचार के आरोप लगने के बाद उन्हें नौ करोड़ डॉलर का एग्जिट पैकेज देकर कंपनी से हटाया गया। अखबार में यह भी कहा गया कि कंपनी ने यौन उत्पीड़न के अन्य आरोपों को छुपाने के लिए इस तरह का कार्य किया है।

जरुर पढ़ें:  आरोपों पर बोल उठे आलोक नाथ, बताई खामोशी की वजह!

इस खबर के बाद मीडिया ने गूगल से इस संबंध में प्रतिक्रिया मांगी। जिसके जबाव में गूगल के कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचई ने कहा कि हमने पिछले दो सालों में 13 वरिष्ठ प्रबंधकों एवं उससे ऊपर के पद के लोगों समेत 48 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला। इनमें से किसी को भी कोई एग्जिट पैकेज नहीं दिया गया।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचई ने कहा कि हमने हाल के दिनों में कई बदलाव किये हैं। इनमें अनुचित व्यवहार को लेकर भी सख्त रवैया अपनाना शामिल है। उन्होंने कहा कि रुबिन एवं अन्य पर दी गई खबर भ्रामक थी। हालांकि गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने लेख के दावों का सीधा-सीधा जवाब नहीं दिया।

जरुर पढ़ें:  भैया, EVM में तो सही में गड़बड़ी है, निर्दलीय का वोट BJP को जा रहा है

पिचई ने कहा, “हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं कि हम यौन उत्पीड़न या अनुचित व्यवहार की प्रत्येक शिकायत की समीक्षा करते हैं, हम जांच करते हैं और हम कार्रवाई करते हैं।” रुबिन के प्रवक्ता सैम सिंगर ने रुबिन के खिलाफ लगे आरोपों को खारिज किया और कहा कि उन्होंने एक अन्य कंपनी के लॉन्च के चलते अपनी इच्छा से गूगल छोड़ा है।

Loading...