देश के विकास में एक और पहल, मोदी सरकार पर लगा चुनाव प्रचार का आरोप

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के विकास के लिए आय दिन कोई न कोई स्कीम निकालते आये हैं. कभी देश की स्वच्छता को लेकर तो कभी किसानों को लेकर. हाल ही में पीएम मोदी देश के किसानो के लिए ‘किसान सम्मान निधी योजना’ लेकर आये थे. जिसके तहत छोटे गरीब किसानों के खाते में हर साल 6000 रूपय की आय सहायता दी जाएगी.

वहीं अब सरकार ने बच्चों की शिक्षा को लेकर भी एक भड़ा फैसला किया है. लेकिन सरकार का ये फैसला शायद लोगों को रास नही आ रहा. और लोगों ने उल्टा सरकार को ही सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है.

जरुर पढ़ें:  बिहार: RJD के उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी, कांग्रेस भी जल्द करेगी उम्मीदवारों की घोषणा

दरअसल हुआ यूं है कि CBSE ने केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय के अनुरोध का हवाला देते हुए करीब 20 हजार स्कूलों को कहा है कि वो अपने विद्यार्थियों को क्लीन गंगा मिसन पर एक ऑनलाइन क्विज में हिस्सा लेने को कहें. बता दें कि ये क्विज 1 अप्रेल से शुरू होगी और 15 अप्रेल तक चलेगी. मंत्रालय का कहना है यो क्विज “गंगा और नदियों के बारें में ज्ञान की कमियों को आंकने के लिए एक प्रतयोगी प्लैटफर्म और जागरुक्ता पहल है..

लेकिन कुछ एक्टिविस्ट ने मंत्रालय की इस पहल को भी निशाना बना लिया. और नरेंद्र मोदी सरकार को सवालों के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया. लोगों ने मोदी जी पर आरोप लगाया जा रहा है कि ये क्विज मोदी सरकार के गंगा नदी को बारे में जानकारी बढ़ाने के लिए नहीं बल्कि चुनाव से पहले गंगा नदी को साफ करने के अपने प्रयासों का प्रचार करने के लिए करवाया जा रहा है.

जरुर पढ़ें:  रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट ने दी विदेश जाने की अनुमति

.

Loading...