नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में लगातार बढ़ आतंकी घटनाओं और पत्थऱबाजी की घटनाओं पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने एक बार फिर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि वह अपनी हरकतों से बाज आए वरना सेना के पास सारे विकल्प खुले हुए हैं। जनरल रावत शनिवार को इन्फ्रैंटी दिवस के मौके पर इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पहुंचे थे जहां उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

श्रद्धांजलि के बाद उन्होंने कहा कि ‘पाकिस्तान को यह अच्छी तरह पता है कि वह कभी अपने इरादों में सफल नहीं हो सकता इसलिए वह आतंक के माध्यम से उकसावे वाली कार्रवाई करता है। वे कश्मीर में विकास को अवरूद्ध करना चाहते हैं लेकिन भारतीय राज्य हर चीज का मुकाबला करने में समर्थ है।’

जरुर पढ़ें:  भारत-पाकिस्तान में अगर युद्ध हुआ तो कितना होगा नुकसान, पढ़ें ये रिर्पोट...

उन्होंने कहा, ‘हम पूरी तरह से विभिन्न विकल्पों के लिए भी तैयार हैं।’ पत्थरबाजी की घटनाओं पर बात करते हुए जनरल रावत ने कहा कि यह आतंकियों जैसी हरकत है इससे पत्थरबाजों का ही नुकसान होता है।

 

उन्होंने कहा कि क्यों ना पत्थरबाजों के साथ भी आतंकवादियों जैसा सलूक हो। सेना प्रमुख ने कहा, ‘जिस जवान की पत्थरबाजी में मौत हुई है वह सीमा सड़क टीम की सुरक्षा में लगा हुआ था जो सड़कों का निर्माण कर रही है। कुछ लोग उसके बाद हमसे पूछते हैं कि पत्थरबाजों के साथ आतंकियों जैसा व्यवहार ना करो।’

आपको बता दें कि शुक्रवार को घाटी में कुछ युवकों द्वारा किए गए पथराव में सिर में चोट लगने से घायल हुए सेना के एक जवान की शुक्रवार को यहां अस्पताल में मौत हो गयी। सिपाही राजेंद्र सिंह गुरूवार को सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के काफिले को सुरक्षा प्रदान करने वाले क्यूआरटी दल में शामिल थे।

जरुर पढ़ें:  बिस्तर पर बेहद 'ठंडे' थे डोनल्ड ट्रंप- स्टॉर्मी डैनियल्स

शाम को जब काफिला एनएच-44 के पास अनंतनाग बाईपास तिराहे से गुजर रहा था तो कुछ युवकों ने वाहन पर पथराव किया और सिर पर एक पत्थर लगने से सिंह घायल हो गये। बाद में अस्पताल में उनकी मौत हो गई।

Loading...