उत्तराखंड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद उद्योग निदेशालय, देहरादून और विकास आयुक्त हथकरघा, भारत सरकार की ओर से आयोजित नेशनल हैण्डलूम एक्सपो में दिन प्रतिदिन लोगों का अच्छा उत्साह देखने को मिल रहा है. ये प्रदर्शनी 9 जनवरी तक चलेगी.

बता दें, नेशनल हैण्डलूम एक्सपो में 17 राज्यों के बुनकरों ने अपने स्टॉल लगाए हैं. जिसमें सोने और चांदी के तारों से काम की गईं सिल्क की साड़ि‍यां आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं. इनकी चार लाख रुपये तक की रेंज यहां मौजूद है. अभी तक एक्सपो में 50 से 90 हजार रुपये तक के मूल्य की साड़ी बेची जा चुकी हैं.

जरुर पढ़ें:  संत भय्यूजी महाराज की आत्महत्या को लेकर उनके ही करीबी ने किया बड़ा खुलासा!

बता दें, आंध्र प्रदेश से पहुंचे बुनकर नवीन कुमार ने बताया कि उनके पास दो हजार से लेकर दो लाख रुपये तक की कांजीवरम, उपाड़ा, माबरी सिल्क की आकर्षक साड़ियां हैं. वहीं, बुनकर यू श्रीनिवास ने बताया कि उनके स्टॉल पर कांजीवरम, बनी सिल्क, मैसूर क्रेप, कॉटन सिल्क की सुंदर साड़ियों की पूरी रेंज है.

जिनकी कीमत 15 सौ से 4 लाख रुपये तक है. बता दें कि चार लाख रुपये की साड़ी में सोन व चांदी के धागे से काम किया गया है. इसकी लोगों के बीच काफी मांग है. इसे खरीदने पर ग्राहक को प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा. आगर आप भी इसी तरह की साड़िया खरीदना चाहते है तो इस हथकरघा के उत्पादों का लाभ उठाएं और एसी तमाम तरहा की साड़िया खरीद सकते है.

Loading...