राहुल गांधी इस देश के सबसे बड़े विपक्षी नेता, वो नेता जो कांग्रेस के अध्यक्ष रहे. अब उनकी मां सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्षा हैं. सुरक्षा के लिहाज से देखें तो इस देश मे सत्ता दल के सबसे बड़े नेता को जितनी सुरक्षा दी जाती है. उतनी ही सुरक्षा विपक्ष के सबसे बड़े नेता को दी जाती है, अगर उसे खतरा है तो.

सुरक्षा के लिए हमारे देश मे कई प्रकार के ग्रुप हैं लेकिन भारत के प्रधानमंत्री को सुरक्षा देती है स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानी SPG. यही SPG प्रधानमंत्री के आलावा गांधी परिवार को भी सुरक्षा देती है. दरअसल ये SPG एक स्पेशल सुरक्षा व्यवस्था है, जिसके तहत देश के वर्तमान और पूर्व प्रधानमंत्रियों के अलावा उनके करीबी परिजनों को ये सुरक्षा दी जाती है. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश के शीर्ष पद पर बैठे नेताओं और उनके परिजनों की सुरक्षा को ध्यान मे रखते हुए SPG की स्थापना की गई थी.

जरुर पढ़ें:  स्वराज के निधन पर रोई गीता...कहा मां जैसी चिंता करती थी सुषमा

गांधी परिवार कि सुरक्षा मे SPG हमेशा तैनात रहती है. लेकिन जब गांधी परिवार का कोई व्यक्ति विदेश दौरे पर जाता था तो वो अपने पहले स्टॉपेज तक ही SPG की सुरक्षा को ले जाता है, उसके बाद SPG को वापस भेज देता था, क्योकि गांधी परिवार की ओर से इस दौरान प्राइवेसी का हवाला दिया जाता था. यानी अपनी निजता का हवाला दिया जाता था. उसके बाद गांधी परिवार देश को बताए बिना दुनिया मे घुमता था लेकिन अब मोदी सरकार ने SPG के नियमो मे बदलाव कर दिया है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय के नए बदलावों के मुताबिक अब SPG सुरक्षा लेने वाला कोई भी सदस्य यदि विदेशी दौरे पर होगा. तो SPG के जवान हमेशा ही उनके साथ रहेंगे. माना जा रहा है कि अगर ऐसा नहीं होता है तो जान का खतरा बना रह सकता है. यानी अब दिल्ली से विदेश जाने और वापस दिल्ली आने तक SPG सुरक्षा के जवान प्रधानमंत्री मोदी और गांधी परिवार के साथ रहेंगे. वैसे प्रधानमंत्री मोदी तो हमेशा ही इस सुरक्षा घेरे के बीच में रहते ही हैं. बस गाधी परिवार विदेश जाने के बाद इस सुरक्षा के घेरे मे नही रहता था अब उसे भी रहना होगा. अक्सर खबर आती है कि राहुल गांधी विदेश चले गए. कभी कहा जाता है की वो बैकांक गए है तो कभी कहा जाता है कि वो कंबोडिया गए है. लेकिन ये पता नही चलता कि कौनसे देश गए है. अब नए नियम आने के बाद साफ हो जाएगा कि राहुल कहा गए है और किसके पास गए है. जब से नए नियम बने है तब से ये चर्चा आम हो गई है कि मोदी सरकार गांधी परिवार पर नजर बनाए रखने के लिए SPG के नियमो मे बदलाव कर रही है.

जरुर पढ़ें:  गांधी परिवार से बाहर नहीं निकल पाई कांग्रेस, सोनिया गांधी बनीं अंतरिम अध्यक्ष

VK News

Loading...