पंजाब के अमृतसर में दशहरा के मौके पर एक ट्रेन ने सैकड़ों लोगों की जान ले ली. और ये हादसा उस वक्त हुआ, जब रेल ट्रैक के पास रावण का पुतला जलाया जा रहा था. जिसे देखने के लिए ट्रैक पर कई लोग खड़े थे. इसी दौरान तेज रफ्तार में ट्रेन गुजर गई और सैकड़ों लोग इसकी चपेट में आ गए.

बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक दशहरा के उत्सव की खुशियां मातम में बदल गई. हादसे में अब तक 61 लोगों के मौत की खबर है सामने आ रही है. साथ ही इस हादसे का एक सबसे दर्दनाक पहलू भी सामने आ रहा. जिसमें दलबीर नाम के एक शख्स की मौत हो गई.

दरअसल सात साल से दलबीर, रामलीला में राम का किरदार निभाता था, लेकिन उसने इस साल पहली बार रावण का किरदार निभाया और उसकी जान जान चली गई. बता दें कि रावण दहन के दौरान दलबीर भी उसी पटरी पर खड़े थे. जहां एक ट्रेन ने सैंकड़ो लोग को मौत की नींद सुला दिया.

जरुर पढ़ें:  क्या रद्द होगी ओवैसी की पार्टी की मान्यता?

इस दर्दनाक हादसे में दलबीर की मौत का नाम सुनते ही परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई और उनकी पत्नी और मां का रो-रोकर बुरा हाल है. और साथ ही जो भी दलबीर की मौत की खबर को सुनता है उसकी आंखे छलकने लगती हैं और इसकी वजह है दलबीर का 8 महीने का बच्चा. जिसे अभी तक ये नहीं पता कि उसके पिता कौन है.

परिजनों का कहना है दलबीर ही मात्र उनकी लाठी का सहारा थे. और अब उनके परिवार की देखभाल कौन करेगा. इस सिलसिले पर दलबीर की मां ने कहा, कि ‘मैं अपनी बहू को नौकरी देने के लिए सरकार से अपील करती हूं.

साथ ही चश्मदीदों ने इस हादसे के लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया. उनका कहना है कि ट्रेन एकदम से आ गई और एक बार भी होर्न तक नहीं दिया गया. और क्या रेलवे विभाग को इस बारे में जानकारी नहीं थी कि वहां पर रावण दहन का कार्यक्रम हो रहा है.

जरुर पढ़ें:  वायरल पड़ताल : सीएम योगी ने आमिर खान को लगाया कॉल कहा आज से तुम्हारा नाम अमर खन्ना!

साथ ही दशहरा कमेटी भी सवालों के घेरे में है कि क्या उन्होंने रेलवे को इस कार्यक्रम के आयोजन से पहले कोई जानकारी दी? दरअसल इस प्रोग्राम में कांग्रेस के दिग्गज नेता नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर को बतौर मुख्यअतिथि बुलाया गया था.

लोगों का आरोप है कि जब ये हादसा हुआ तो नवजोत कौर मौके से भागकर सुरक्षित जगह पर पहुंच गईं. हालांकि नवजौत कौर ने उन सभी रिपोर्ट्स को खंडित किया है जिसमें चश्मदीद उनपर हादसा देखकर भाग जाने का आरोप लगा रहे हैं. आपको बता दें कि जिस इलाके में ये हादसा हुआ है, वहां के विधायक नवजोत सिंह सिद्धू ही हैं.

जरुर पढ़ें:  देश में जारी होने वाले 75 रुपये के सिक्के की ये है खासियत!

Loading...