देश में खूब पाखंडी और ढोंगी बाबाओं की भरमार है. कोई आस्था के नाम पर लूट रहा है तो कोई इलाज के नाम पर तो कोई चमत्कार का झासा देकर ही लूट रहा है. यही नहीं बल्कि ऐसे ढोंगी बाबाओं के चक्कर में आकर कुछ लोगों ने तो अपनी जान तक ही गवा दी. जिसका ताजा उदाहरण दिल्‍ली के बुराड़ी का, जिसमें ढ़ोगी बाबा के चमत्कारी के चक्कर में आकर एक ही परिवार के 11 लोगों ने एक साथ फांसी लगा ली और पूरा का पूरा परिवार ही नष्ट हो गया.

इसी बीच अब ऐसे ही एक पाखंडी बाबा का नया मामला सामने आया है. मामला फरीदाबाद का है, जहां बिजनसमैन से एक फर्जी बाबा ने 12 लाख रुपये ठग लिए. दरअसल इस ढोंगी बाबा ने बिजनसमैन को हिरण के तेल और काले कपड़े के खेल का झांसा देकर 2 करोड़ 40 लाख कमाने का सपना दिखाया. और ये कारोबारी इसे सच मान बैठा, बाद में ठगा भी गया. अब आपको इस पूरे मामले के बारे में बताते है.

जरुर पढ़ें:  राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी ने पीएम को घेरा, मोदी पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप
सांकेतिक फोटो

दरअसल ग्रेटर फरीदाबाद में रहने वाले एक बिजनसमैन के पास पिछले हफ्ते एक फोन कॉल आई. जिसमें फोन करने वाले ने अलवर के काला जादू विशेषज्ञ बाबा के बारे में बताया, और साथ ही नंबर भी दिया. फिर क्या था कारोबारी ने काला जादू विशेषज्ञ बाबा को फोन लगा दिया. काला जादू विशेषज्ञ बाबा का ढोंग रचाने वाले ने बिजनसमैन को अलवर बुलाया.

जब ये बिजनसमैन पहले दिन इस ढोगी बाबा के पास पहुंचा तो बाबा ने बंद कमरे में अपने पूरे शरीर पर कोई तेल लगाया. इसके बाद एक काला कपड़ा ओढ़कर कुछ देर में हटा दिया. फिर बाबा के शरीर से रुपयों की बारिश होने लगी. यहीं से ही बिजनसमैन बाबा के झासे में आ गया और नजरबंदी के इस खेल में बंधकर रह गय, और इस चमत्कारी को देख कारोबारी करोड़पति बनने का सपना देखने लगा.

जरुर पढ़ें:  जम्मू-कश्मीर : सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में तीन आतंकी ढ़ेर, एक जवान शहीद, सर्च ऑपरेशन जारी
पाखंडी बाबाओं का ढोंग

बिजनसमैन को बाबा ने बताया कि जो मैंने तेल शरीर पर लगाया है, वह हिरण का तेल है, जिसकी कीमत 12 लाख रुपये है और उससे करीब 2 करोड़ 40 लाख रुपये तैयार किए जा सकते हैं. फिर क्या था बिजनसमैन ने 12 लाख रुपये देकर फ्रॉड बाबा से हिरण का तेल और काला कपड़ा खरीद लिया. फरीदाबाद लौटकर बिजनसमैन ने अपने घर के एक कमरे में शरीर पर हिरण का तेल मला और काला कपड़ा भी ओढ़ लिया.

अब वो इंतजार कर रहा था कि कब पैसो की बरसात हो. लेकिन रुपयों की बरसात नहीं हुई. और तब तक बाबा फरार भी हो चुका था. बता दें कि इससे कुछ महीने पहले चार फर्जी बाबाओं ने नोइडा में नागमणि का लालच देकर एक आभूषण व्यापारी से 22लाख रुपये की ठगी की थी.

जरुर पढ़ें:  यहां हिन्दू मंदिर से पहले जाते हैं मस्जिद, ये है वजह !

Loading...