स्कूल के बच्चे रोज कक्षा में हाजिरी लगाने के लिए ‘यस सर’ ‘प्रजेंट सर’ या ‘यस मैम’ और ‘प्रजेंट मैम’ बोलते हैं. लेकिन आज से ऐसा नहीं होगा. जी हां, स्कूलों में अब बच्चे को हाजिरी लगाने के लिए ‘यस सर’ और ‘प्रजेंट सर’ की जगह ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ के नारे लगाने होंगे.

मध्य प्रदेश सरकार के बाद अब गुजरात सरकार ने भी स्कूल के बच्चों को जय हिंद के नारे लगाने का फरमान सुना दिया है. बता दें, गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेन्द्र सिंह चुडासमा के मुताबिक ये कदम छात्रों में देशभक्ति की भावना लाने के लिये उठाया गया है. इसका अधिसूचना भी जारी हो गया है और अब इसे 1 जनवरी यानी आज से स्कूल में लागू किया जाएगा.

जरुर पढ़ें:  पैरेंट्स ने बच्ची का रखा ऐसा नाम, कि गुस्सा गया कोर्ट और कहा बदलना होगा नाम

जानकारी के लिए बता दें कि 15 मई 2018 को मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग ने भी यही नियम निकाला था. ‘यस सर’ की जगह ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ बोलने का फरमान सबसे पहले मध्य प्रदेश के सतना में जारी हुआ था. और ये नियम सभी सरकारी स्कूलों में लागू है.

बता दें, गुजरात शिक्षा बोर्ड की ओर से जारी की गई अधिसूचना में कहा गया है कि कक्षा 1 से 12 तक के सभी छात्रों को हाजिरी लगाने के लिए ‘यह हिंद’ या ‘यह भारत’ बोलना होगा. और इस अधिसूचना का सभी सरकारी और निजी स्कूलों को पालना करना होगा. जिससे बच्चों में बचपन से ही देशभक्ति की भावना लाई जा सके.

जरुर पढ़ें:  अंतरिम बजट के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर , जानिए क्या है वजह

आपको बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एक ऐसा मामला सामने आया था, जहां एक स्कूल के प्रिंसिपल ने कथित तौर पर छात्रों की सिर्फ इसलिये पिटाई कर दी क्योंकि उन्होंने प्रिंसिपल को इस्लामिक तरीके से अभिवादन न कर ‘अस्सलाम वालेकुम’ की जगह ‘गुड मॉर्निंग’ कह दिया था. और मामले की जांच में प्रिंसिपल को दोषी पाए जाने पर निलंबित कर दिया गया था.

Loading...