14 फरवरी एक काला दिन एक ऐसा दिन जिस दिन देश ने अपने 40 जवानों को खो दिया. किसी ने अपना बेटा खोया, किसी ने पति तो किसी ने अपना भाई खो दिया. पुलवामा अटैक, एक ऐसा काला दिन बन गया जिस दिन देश फूट फूटकर रो रहा था.जिसकी कीमत आखिरकार पाकिस्तान से वसूली भी गई. भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक कर अपने जख्मों का बदला लिया. लेकिन बावजूद इसके पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. एक नए खुलासे ने सबकों चौका कर रख दिया है. इसी सिलसिले में हो रही जांच ने पाकिस्तान के नापाक मंसूबो का ऐसा सच सबके सामने ला दिया है. जिससे मुमकिन है आपका खून खौल जाएगा.

जरुर पढ़ें:  इस जज ने पीएम मोदी से जो अपील की, उसे सुनकर आपके होश उड़ जायेंगे!

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू और कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली थी. सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में 40 जवान शहीद हुए थे. आपने खबरों में सुना होगा कि इस आतंकी हमले में 300 किलो विस्फोटक को SUV में भरकर बस में टक्कर मारी गई थी जिससे भयंकर विस्फोट हुआ और बस के परखच्चे उड़ गए. इसी कड़ी में पुलवामा हमले की जांच में एनआईए ने बड़ा खुलासा किया है. कोर्ट में दायर चार्जशीट में उन्होंने कहा है कि जैश-ए-मोहम्मद पुलवामा हमले के बाद दिल्ली में बड़ा आतंकी हमला करने की तैयारी कर रहा था. और तो और जैश ने इसके लिए दिल्ली के साउथ ब्लॉक और सेंट्रल सेक्रेटरिएट की रेकी भी की थी. आतंकी इस फिराक में थे कि वो पुलवामा की तरह एक और बड़े हमले को अंजाम दे सके.

जरुर पढ़ें:  अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक, मिलने वालों का एम्स में तांता

बता दें कि जैश आतंकी अहमद खान से पूछताछ में पता चला है कि वो जैश के टॉप कमांडर्स के कहने पर संसद के पास साउथ ब्लॉक, सेंट्रल सेक्रेटरिएट, पुरानी दिल्ली, सिवल लाइन्स ,बी के दत्त कॉलोनी, कश्मीरी गेट, लोधी एस्टेट, मंडी हाउस और दरियागंज की रेकी भी कर चुका था. काफी हद तक मुमकिन था कि वो यहां भी मौत का खतरनाक खेल होता लेकिन इसका खुलासा कर दिया गया है. इसके साथ ही भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी.NIA  ने अपनी जांच में खुलासा किया है कि जिस कार में विस्फोटक भरे हुए थे वो एक एसयूवी नहीं थी तो वहीं आतंकियों ने साढ़े तीन सौ किलो नहीं बल्कि 60 किलो आरडीएक्स का इस्तेमाल किया था.

जरुर पढ़ें:  आर्थिक आरक्षण के खिलाफ मद्रास हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

 

Loading...