पिछले कुछ घंटों से एक सवाल सबसे ज्यादा हिलोर मार रहा है कि कश्मीर घाटी में कुछ बड़ा होने वाला है. घाटी के नेताओं से लेकर वहां के नागरिक असमंजस में हैं कि आखिर अचानक से बड़ी तदाद में सुरक्षाबलों की तैनाती क्यों हो रही है. जिसके बाद से ही सोशल मीडिया पर कई तरह की अफवाहों की हवा बह रही है. जिसमें कोई 35A हटाने की बात कह रहा है को कोई जम्मू कश्मीर में परिसीमन कराने का दावा.

इन सबके के बीच सोशल मीडिया एक और दावा वायरल हो रहा है जो आग की तरह फैल रहा है. जिस पर कई सवाल भी खड़े कर रहा है. दरअसल सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर में पुलिसकर्मियों के हथियार जमा कराए जा रहे हैं? और उनकी जगह सीआरपीएफ कर्मियों की तैनाती की जा रही है?

जरुर पढ़ें:  उत्तरप्रदेश में अभी भी अखिलेश यादव ही है सीएम, यकीन नहीं हो रहा तो देख लो...

इस दावे पर लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही है. कुछ लोग कह रहे हैं कि घाटी में सुरक्षाबलों के जवान बड़ा एक्शन लेने वाले हैं. तो कोई कह रहा है कि भारत और पाकिस्तान सीमा पर कुछ बड़ा होने वाला है. खैर जम्मू-कश्मीर में पुलिसकर्मियों के हथियार जमा करने वाले दावों में कितनी सच्चाई है वो भी आपको बताएंगे लेकिन उससे पहले आपके बता देते हैं कि कुछ घंटे पहले नियंत्रण रेखा यानी कि LOC से बड़ी खबर सामने आई गई है.

सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज

खबर के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में भारतीय सेना ने कड़ी कार्यवाई करते हुए पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम यानी कि BAT की घुसपैठ कोशिशों को नाकाम कर दिया. सेना ने कार्यवाई में आतंकियों के साथ 5 से 7 पाकिस्तानी सेना के BAT कमांडो को मार गिराया. साथ ही भारतीय सेना ने पाकिस्तान की सेना को संदेश भेजा है कि वो सफेद झंडा लेकर आएं और इन लाशों को उठाकर ले जाए. इससे पहले 31 जुलाई और 1 अगस्त की रात को पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने केरन सेक्टर में हमला करने की कोशिश की थी, जिसको भारतीय सेना के जवानों ने विफल कर दिया था.

जरुर पढ़ें:  पश्चिम बंगाल के उत्तर परगना में मंदिर में भगदड़, 6 की मौत, दर्जनों घायल

अब बात करते हैं सबसे बड़े दावे की क्या वाकई जम्मू-कश्मीर में पुलिस वालों से हथियार जमा कराए जा रहे हैं. तो आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इस अफवाह का खंडन किया है.और कहा कि इस अफवाह के पीछे जिन लोगों का हाथ है, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान

दरअसल अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान ने कहा  है कि ‘ये ट्वीट है कि जम्मू कश्मीर के पुलिसकर्मियों को अपने हथियार सौंपने को कहा जा रहा है. सीआरपीएफ और सेना थानों का नियंत्रण अपने हाथों में ले रहे हैं, ये बात एक आपराधिक कोरी अफवाह है.’ साथ ही उन्होंने कहा है कि ‘ऐसे आपराधिक तत्वों, जिन्होंने माहौल खराब करने की मंशा से दुर्भावनापूर्ण अफवाहें फैलाई हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

जरुर पढ़ें:  भारतीय रेलवे का एक ऐसा रेलवे स्टेशन, जिसका कोई नाम ही नहीं है

खैर आप से भी गुजारिश है कि आप ऐसी अफवाहों पर कतई भी ध्यान ना दें. वीके न्यूज़ की मुहिम Fight Against Fake News जारी है अगर आपके पास भी कोई ऐसी अपवाह वाली खबर है जिस पर आपको संदेह हो तो उसे हमारे साथ साझा करें उसकी पड़ताल करके सच्चाई आप तक पहुंचाएंगे.

Loading...