झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए पांच चरणों में वोट डाले गाएंगे। राज्य में पांच चरणों में इसके लिए मतदान होगा। चुनाव के नतीजों के लिए मतगणना 23 दिसंबर की जाएगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने झारखंड में विधानसभा चुनाव की तारीखों को लेकर एक प्रेस कांफ्रेंस की। सुनील अरोड़ा ने बताया कि पहले चरण का मतदान 30 नवंबर को होगा। 7 दिसंबर को दूसरे, 12 दिसंबर को तीसरे चरण के तहत वोटिंग होगी। इसके अलावा चौथे चरण के लिए 16 दिसंबर और पांचवें चरण के लिए 22 दिसंबर को वोट डालें जाएंगे।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि झारखंड विधानसभा का कार्यकाल 5 जनवरी को खत्म होगा। उपायुक्तों ने 17-18 अक्टूबर को ही झारखंड का दौरा किया था। झारखंड के 19 जिले नक्सल प्रभावित हैं। जिसमें 67 सीटें नक्सल प्रभावित हैं।

जरुर पढ़ें:  झारखंड में तीर के निशान पर जेडीयू के चुनाव लड़ने पर लगी रोक

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में बीजेपी लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी को बेताब है। बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के नतीजे को देखते हुए विधानसभा चुनाव में मिशन-65 प्लस का टारगेट फिक्स किया है। बीजेपी-एजेएसयू मिलकर चुनावी मैदान में उतर रहे हैं। झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष हेमंत सोरेन सत्ता में आने के लिए बदलाव यात्रा पर निकले हैं और बीजेपी के खिलाफ माहौल बनाने में जुटे हैं।

वहीं, कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष की कमान रामेश्वर उरांव को देकर आदिवासी कार्ड खेला है। इसके अलावा बाबूलाल मरांडी की पार्टी जेवीएम अकेले चुनावी ताल ठोकने की तैयारी में है।

जरुर पढ़ें:  Birthday Special- धौनी के बारे में वो सीक्रेट बातें, जो शायद आप नहीं जानते हैं

बता दें कि झारखंड में कुल 81 विधानसभा सीटें हैं। साल 2014 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी 31.3 फीसदी वोट के साथ 37 सीटें जीतने में कामयाब रही थी और उसकी सहयोगी ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) 3.7 फीसदी वोट के साथ 5 सीटें जीती थी।

उधर, जेएमएम ने 20.4 फीसदी वोट के साथ 19 सीटें, कांग्रेस 10.5 फीसदी वोट के साथ 7 सीटें और जेवीएम ने 10 फीसदी वोट के साथ 8 सीटें जीती थी। हालांकि चुनाव के बाद जेवीएम के 6 विधायकों ने पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था। इसके अलावा 6 सीटें अन्य को मिली थी।

VK News

Loading...