सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस एसए बोबडे का नाम चर्चा में है। चर्चा में इसलिए क्योंकि सीजेआई रंजन गोगोई ने अगले मुख्य न्यायाधीश के तौर पर केंद्र सरकार को नाम भेजा है।

देश के मौजूदा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अपने बाद इस पद के लिए न्यायमूर्ति एसए बोबडे के नाम की सिफारिश कर दी है। जस्टिस गोगोई अगले महीने 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं। यही वजह है कि उन्होंने केंद्र सरकार को अगले चीफ जस्टिस का नाम सुझाया है। जस्टिस बोबडे मौजूदा समय में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले की सुनवाई करने वाली पीठ का हिस्सा हैं। वे कई बड़े केस के फैसलों में शामिल रहे हैं।

जरुर पढ़ें:  मोदी सरकार लाने जा रही है धर्मांतरण विरोधी बिल!

जस्टिस एसए बोबडे का पूरा नाम अरविंद शरद बोबडे है। उनका जन्म 24 अप्रैल, 1956 को महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था। उन्होंने नागपुर यूनिवसिर्टी से बीए और एलएलबी की डिग्री हासिल की थी।

जस्टिस बोबडे साल 1978 में बार काउंसिल ऑफ महाराष्ट्र से जुड़े। काउंसिल ऑफ महाराष्ट्र ज्वॉइन करने के बाद उन्होंने बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच में वकालत की प्रैक्टिस की। बॉम्बे हाई कोर्ट में साल 2000 में उन्होंने एडिशनल जज का पद संभाला। इसके बाद उन्हें मध्य प्रदेश हाई कोर्ट का चीफ जस्टिस बनाया गया।

जस्टिस बोबडे 18 नवंबर को चीफ जस्टिस के रूप में शपथ ले सकते हैं। जस्टिस रंजन गोगई द्वारा सिफारिश किए जाने के बाद केंद्र सरकार की ओर से जस्टिस बोबडे को चीफ जस्टिस का पद सौंपने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। जस्टिस बोबडे 2013 में सुप्रीम कोर्ट के जज बने थे। वे 23 अप्रैल, 2021 को रिटायर हो जाएंगे।

जरुर पढ़ें:  अयोध्या विवाद पर फैसले से पहले इससे जुड़े सोशल मीडिया पोस्ट-पोस्टर पर रोक

VK News

Loading...