गांधी परिवार की बेटी प्रियंका गांधी की राजनीति में अब दमदार एंट्री हो गई है. वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी उन्हें पार्टी की बड़ी जिम्मेदारी सौंपते हुए महासचिव नियुक्त किया है. प्रियंका गांधी के राजनीति में कदम रखने से कांग्रेस में खुशी की लहर दौड़ गई. वहीं उनके पति रॉबर्ट वाड्रा को भी प्रियंका गांधी वाड्रा को कांग्रेस महासचिव बनाने को लेकर बेहद खुश हैं.

उन्होंने ट्वीट करके प्रियंका को बधाई देते हुए कहा कि मैं हर मोड़ पर आपके साथ हूं. तो आइए इस मौके जानते हैं कि कैसे देश के सबसे बड़े राजनीतिक घराने के बेटी की प्रेम कहानी शुरू होते ही खत्‍म हो गई थी. कैसे नौ सालों के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार इस प्रेम कहानी में एक नया मोड़ आया था.

जरुर पढ़ें:  कैसे तय किया एक तांगेवाले से एमडीएच के सीईओ तक का सफर गुलाटी ने

आपको बता दें कि प्रियंका गांधी की प्रेम कहानी महज 13 साल की उम्र में शुरू हो गई थी. पढ़ाई के दौरान बेहद कम दोस्त बनाने वाली प्रियंका ने जब रॉबर्ट वाड्रा को पहली बार देखीं थी तो बस देखती ही रह गईं थीं. उन्हें पहली नजर में ही रॉबर्ट से प्‍यार हो गया था.

 

बताया जाता है कि ब्रिटिश स्कूल में पढ़ाई के दौरान रॉबर्ट लड़कियों के बीच काफी पॉपुलर हुआ करते थे. शुरुआत में वो प्रियंका को लेकर बहुत सीरियस नहीं थे. इसके बावजूद भी प्रियंका गांधी रॉबर्ट वाड्रा से प्‍यार करती रहीं. लेकिन जैसे-जैसे मुलाकातों का दौर बढ़ा, दोनों के बीच नजदीकियां भी बढ़ती चली गईं. और काफी बातचीत होने के बाद दोनों धीरे-धीरे करीब आ गए. बताया जाता है कि रॉबर्ट का दिल प्रियंका पर उनकी सादगी के चलते आया था.

जरुर पढ़ें:  मोदी सरकार का किसानो को तोहफा, 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' की करेंगे शुरुआत

लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया जब प्रियंका गांधी और रॉबर्ट वाड्रा की लव स्टोरी नौ साल के लिए लगभग खत्म हो गई थी. जी हां, इंदिरा गांधी की हत्या ने दोनों को एक-दूसरे से दूर कर दिया था. और नौ साल बाद दोनों के एक दोस्त की वजह से इनकी प्रेम कहानी में नया मोड़ आया.

प्रियंका और वाड्रा 1997 में शादी के बंधन में बंधे. जब प्रियंका गांधी की शादी हुई तब वो 20 साल की थीं और रॉबर्ट वाड्रा 22 साल के थे. लेकिन आपको बता दें कि प्रियंका की शादी भी इतनी आसानी से नहीं हुई. उनकी मां सोनिया गांधी तो शादी के लिए राजी थीं पर रॉबर्ट के पिता राजेंद्र वाड्रा खुश नहीं थे. शादी को लेकर बाप-बेटे के बीच काफी विवाद भी हुआ था. हालांकि, बाद में दोनों की शादी बेहद सादगी से की गई, जिसमें केवल 150 मेहमानों को बुलाया गया था.

जरुर पढ़ें:  ट्रंप ने जारी की एडवाइजरी, अपने नागरिकों को J&K ना जाने की दी सलह

Loading...