प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नासिक में एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने राम मंदिर मसले पर गलत बयान दे रहे नेताओं को फटकार लगाई। पीएम ने कहा कि राम मंदिर का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है, ऐसे में जो बयानबहादुर लगातार भाषण दे रहे हैं वो चुप्पी साधें और अदालत पर विश्वास रखें।

सुप्रीम कोर्ट में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुनवाई के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राम मंदिर पर बड़ा बयान दिया है. महाराष्ट्र के नासिक में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने राम मंदिर मसले पर बयान दे रहे नेताओं को नसीहत दे डाली है. पीएम ने कहा कि राम मंदिर का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है, ऐसे में जो बयानबहादुर लगातार भाषण दे रहे हैं वो चुप्पी साधें और अदालत में विश्वास रखें.

जरुर पढ़ें:  उन्नाव बलात्कार मामले में 'सुप्रीम' आदेश- '7 दिन में जांच और 45 दिन में पूरा हो ट्रायल'

नासिक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले 2-3 सप्ताह से कुछ बड़बोले लोग अनापशनाप बयानबाजी कर रहे हैं और राम मंदिर पर बोल रहे हैं। देश के सभी नागरिकों का भारत की सुप्रीम कोर्ट के प्रति सम्मान बहुत आवश्यक होता है, जब मामला सर्वोच्च अदालत में चल रहा हो तो पता नहीं ये बयानबहादुर कहां से टपक गए हैं, हमारा संविधान-सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा होना चाहिए।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान सुप्रीम कोर्ट की उस टिप्पणी के ठीक अगले दिन आया है, जब सर्वोच्च अदालत ने अयोध्या मसले की सुनवाई एक महीने में पूरी करने को कहा है।

जरुर पढ़ें:  अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मंजूर की राहुल गांधी की माफी

सर्वोच्च अदालत ने बुधवार को सुनवाई के दौरान कहा था कि वह उम्मीद रखते हैं कि 18 अक्टूबर तक इस मसले की सुनवाई पूरी होगी। चीफ जस्टिस ने इसके साथ ही फैसला लिखने के लिए भी 1 महीने के वक्त की बात कही थी।

सुप्रीम कोर्ट की इसी टिप्पणी के बाद ही कई नेताओं के बयान सामने आए थे जिसमें राम मंदिर बनने की ओर एक कदम बताया गया था। बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बुधवार को कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर के पक्ष में ही आएगा, लोगों का भरोसा है और देश का भी यही भरोसा है। इसके साथ ही गिरिराज ने कहा था कि मोदी है तो मुमकिन है।

जरुर पढ़ें:  कार्ति का आरोप बदले की भावना से हुई मेरे पिता की गिरफ्तारी

VK News

Loading...