पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर के मसले पर लगातार औंधे मुंह गिर रहा है। भारत ने धारा 370 पर जो फैसला लिया, उससे पाकिस्तान को दिक्कत है, इसी मसले को लेकर PAK संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) पहुंचा लेकिन भारत ने अपने तर्कों से उसकी हर मांग को बेदम कर दिया. भारत की तरफ से पहले विदेश मंत्रालय की सचिव विजय ठाकुर सिंह और बाद में UNHRC के लिए भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव विमर्श आर्यन ने पाकिस्तान के तर्कों का जवाब दिया और पाकिस्तान को चुप कर दिया. UNHRC  में  भारत ने ये साफ कर दिया कि इस मसले पर भारत विदेशी हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेगा, क्योंकि ये उसका आंतरिक मामला है.

जरुर पढ़ें:  बीजेपी के इस अकेेले नेता ने राम मंदिर के लिए त्याग दी थी सत्ता, और काटी थी जेल!

पाकिस्तान के इस हवा हवाई दावों के भारतीय प्रतिनिधि ने एक बार फिर से फुस्स कर दिया और पूरी दुनिया के सामने उसकी असलियत को उजगार किया. जिस भारतीय प्रतिनिधि ने पाकिस्तान की ईंट से ईंट बजाई उनका नाम है विजय ठाकुर सिंह. विजय ठाकुर ने न सिर्फ अपनी बात को बेबाकी से रखा बल्कि पाकिस्तान की दज्जियां उड़ा दीं.

पाकिस्तान को मुंह की खाने पर मजबूर करने वाली विजय ठाकुर आखिर हैं कौन?

18 सितंबर, 1960 को जन्मीं विजय ठाकुर सिंह एमईए में विदेश मंत्रायल में सचिव पद पर कार्यरत हैं. इस पद को विजय 1 अक्टूबर 2018 से संभाल रही हैं. तो वहीं उनकी शिक्षा की बात करें तो अर्थशास्त्र में MA  विजय ठाकुर  सिंह,  अगस्त 1985 में भारतीय विदेश सेवा (IFS) में शामिल हुई थीं. इसके बाद उन्होंने दुनिया भर के भारतीय दूतावासों जैसे कि सिंगापुर, आयरलैंड, अमेरिका, अफगानिस्तान सहित कई देशों में अपनी सेवा दी.

जरुर पढ़ें:  मोदी का नया कश्मीर मिशन, केसर की खेती से किसान होंगे मालामाल

सिंह ने 1989-1999 के बीच विदेश मंत्रालय में काम करते हुए नई दिल्ली में निदेशक (उप सचिव, अवर सचिव अफगानिस्तान, पाकिस्तान) के रूप में भी काम किया. इतना ही नहीं  2000-2003 के बीच उन्होंने न्यूयॉर्क में परमानेंट मिशन ऑफ़ इंडिया में काउंसलर के रूप में भी काम किया.

इससे पहले विजय ने दिसंबर 2016 से सितंबर 2018 के बीच आयरलैंड में भारतीय राजदूत के तौर पर काम किया. और जून 2013 से अगस्त 2016 के बीच सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त के तौर पर काम किया. सिंह ने फरवरी 2006-अगस्त 2007 के बीच मैड्रिड में भारत के डिप्टी चिफ ऑफ मिशन के तौर पर काम किया. साथ ही, वो  काबुल में भारत के दूतावास में काउंसलर के पद पर भी रहीं।

जरुर पढ़ें:  जम्मू एवं कश्मीर के घटनाक्रम पर अमेरिका ने दिया ये बड़ा बयान...

तो वहीं UNHRC में पाक को पस्त करने के बाद विजय ठाकुर सिंह की खूब तारीफ की जा रही है. तो वहीं पाकिस्तान एक बार फिर अपनी फजीहत कराने के बाद चित हो गया है.

VK News

Loading...