नई दिल्ली। त्योहारों के मौके पर लोगों की खुशी को दोगुना करते हुए रेलवे ने 50 प्रतिशत से कम बुकिंग वाली 15 प्रीमियम रेलगाड़ियों का किराया कम कर दिया है! सरकार ने इन रेलगाड़ियों पर से फ्लेक्सी किराया योजना को समाप्त कर दिया है।

नए नियम के मुताबिक, कम मांग वाले मौसम में, जब टिकट बुकिंग 50 से 75 प्रतिशत तक घट जाती है, ऐसी 32 गाड़ियों में फ्लैक्सी किराया योजना लागू नहीं होगी।  रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को कहा कि रेलवे ने 101 ट्रेनों में फ्लेक्सी किराये की दर को आधार मूल्य के 1.5 गुना के बजाय 1.4 गुना कर दिया है।


बता दें कि रेलवे की तरफ से यह कदम जुलाई में आई कैग की रिपोर्ट के बाद उठाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया था कि 2016 में योजना के लागू होने के बाद से सीटें खाली रह जाती हैं। इसके साथ फ्लैक्शी किराया को तर्कसंगत बनाने का सुझाव भी दिया गया था। रेलवे ने अब उसी रिपोर्ट के आधार पर नया फैसला लिया है।

जरुर पढ़ें:  केरल की दादी अम्मा की कहानी है बड़ी ही रोचक, हासिल किया 100 से 98 अंक

हालांकि रेलवे का कहना है कि इस योजना से रेलवे को 103 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई की कि किराया कम होने से सीटें भरने में मदद मिलेगी और अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति होगी।

कौन-कौन सी ट्रेनें योजना से हटेंगीं

जिन रेलगाड़ियों को इस योजना से हटाया जाएगा उनमें ये रेलगाड़ियां हैं। इन गाड़ियो में सीटे खाली रह गई थी।

  • कालका-नयी दिल्ली शताब्दी
  • हावड़ा-पुरी राजधानी
  • चेन्नई-मदुरै दुरंतो
  • अमृतसर शताब्दी
  • इंदौर दुरंतो
  • जयपुर दुरंतो
  • बिलासपुर राजधानी
  • काठगोदाम-आनंद विहार शताब्दी
  • रांची राजधानी
Loading...