मुंबई। सीबीआई में नंबर दो की हैसियत रखने वाले राकेश अस्थाना को लेकर शिवसेना ने बीजेपी पर निशाना साधा है। अपने मुख्यपत्र सामना के संपादकीय में शिवसेना ने सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को बीजेपी का शार्प शूटर बताया है।

एक हिंदी बेवसाइट में छपी खबर के मुताबिक, सामना के संपादकीय में लिखा है ‘गुजरात काडर के एक अधिकारी राकेश अस्थाना मोदी-शाह के अत्यन्त विश्वसनीय हैं। इसमें कोई आपत्तिजनक नहीं है लेकिन अस्थाना की ईमानदारी सवालों के घेरे में है। वह बीजेपी के शार्प शूटर की तरह काम कर रहे हैं।’

सामना ने इस बात को याद दिलाया कि तत्कालीन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने अस्थाना को गोधरा केस में जांच प्रमुख के रूप में नियुक्त किया था। इसके बाद अस्थाना ने आसाराम मामले की भी जांच की और विवादास्पद आसाराम के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का फैसला किया। सामना में आरोप लगाया गया है कि ‘मतलब बीजेपी नेताओं को जैसा चाहिए, वैसा वे करते गए और मोदी ने उन्हें सीबीआई का स्पेशल डायरेक्टर नियुक्त कर उसी सेवा का पुरस्कार दिया।’

जरुर पढ़ें:  स्मृति ईरानी कितनी जिद्दी हैं, ये खबर पढ़कर आपको समझ आ जाएगा

सामना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जापान यात्रा पर जाने की भी निंदा की। सामना ने दावा किया कि ‘यह खुलेआम कहा जाता है कि अस्थाना ने नीतीश कुमार को बिहार के बदनाम सृजन घोटाले से बचाया था और उसी दबाव के चलते नीतीश कुमार को लालू यादव का साथ छोड़ने पर मजबूर कर उन्हें बीजेपी कैंप में धकेला गया था।’

सामना में आगे दावा किया गया कि ‘बिहार के भागलपुर में सृजन घोटाला करीब 2500 करोड़ रुपए का घोटाला था। इस मामले में तब तत्कालीन नीतीश सरकार पर आरोप लगे थे। उसी वक्त बिहार में चारा घोटाले में लालू यादव को गिरफ्तार करनेवाले यही अस्थाना थे।’

Loading...