बेशक राफेल विमान सौदे को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने किसी भी तरह की जांच के लिए इंकार कर दिया हो. लेकिन फिर भी इस मुद्दे पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर खत्म होता हुआ नज़र नहीं आ रहा है. साथ ही मोदी सरकार को इस मुद्दे पर राहत मिलने के बाद सरकार का आत्मविश्वास और बढ़ गया है.

जिसके बाद से ही बीजेपी आक्रामक ढंग से ताबड़तोड़ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर निशाना साध रही है. तो वहीं दूसरी तरफ आगरा के ताजमहल से कांग्रेस कार्यकर्ताओं का एक ऐसा मामला सामने आया है.जिसने ताजमहल की सुरक्षा पर फिर सवाल खड़े कर दिए. दरअसल ताजमहल की सुरक्षा में सेंध लगाते हुए यहां चौकीदार चोर का पोस्टर लहराया. इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के खिलाफ और राफेल को लेकर जमकर नारेबाजी की.

जरुर पढ़ें:  राफेल पर घिरी सरकार! फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा, वह सौदे के वक्त सत्ता में नहीं थे

अचानक ऐसा देखकर ताजमहल की सुरक्षा में तैनात कर्मियों के होश उड़ गए. उन्होंने आनन-फानन में सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पकड़ लिया और पोस्टर छीन लिए. लेकिन बाद में बिना किसी ठोस कार्रवाई के सभी को छोड़ दिया गया. दरअसल ताजमहल में सोमवार को दोपहर डेढ़ बजे 12 युवकों का एक दल ताजमहल के सेंट्रल टैंक तक चार बैनर और कांग्रेस के दो झंडे लेकर पहुंच गया.

दल में शामिल युवकों ने बैनर निकालकर लहराने के साथ ही राफेल डील पर प्रधानमंत्री के विरुद्ध नारेबाजी शुरू कर दी.. साथ ही बैनर पर प्रधानमंत्री को लेकर आपत्तिजनक शब्द भी लिखे हुए नज़र आए.

जरुर पढ़ें:  फर्जी चुनाव तारीख की घोषणा करने वाले के खिलाफ मामला दर्ज

आपको बता दें कि राफेल डील के मामले में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीजेपी ने कांग्रेस के खिलाफ हमला तेज कर दिया है. जिसे लेकर सोमवार को प्रदेश के कई हिस्सों में दिग्गज नेताओं की फौज उतारकर बीजेपी ने ताबड़तोड़ प्रेस कॉन्फ्रेंस कराई. लखनऊ में जहां केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय के साथ मोर्चा संभाला, तो वहीं कानपुर में यूपी सरकार के प्रवक्ता और प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

इस दौरान श्रीकांत ने राफेल सौदे पर गलत बयानबाजी के लिए कांग्रेस और राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि ये सब इसलिए हो रहा है, क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष यूपीए शासन में अपनी सरपरस्ती में हुए घोटालों के आरोपियों को कानून के शिकंजे में फंसता देख बौखला रही  हैं. उन्होने आगे कहा कि एक के बाद एक अपनों की चोरियों के खुलासों से तिलमिलाए कांग्रेस अध्यक्ष चौकीदार को चोर बता रहे हैं.जबकि राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से स्पष्ट हो गया है कि चौकीदार प्योर है और झूठ का एटीएम चोर है.

जरुर पढ़ें:  वायरल सच : मोदी के भाई हैं ये ऑटो ड्राइवर..

अब सवाल ये है कि जब सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे पर जांच के लिए इंकार कर दिया है तो फिर इस तरह की गतिविधियां पैदा क्यों की जा रही है.

Loading...