क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान की मशहूरी की वजह उनका क्रिकेट करियर तो था ही, लेकिन इसके साथ इससे ज्यादा उन्हें उनसे जुड़े विवादों ने भी सुर्खियों में रखा। राजनीति में आने से पहले इमरान पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान रह चुके हैं। टीम में वे एक आलराउंडर के तौर पर खेला करते थे। उन्होंने अपने पूरे क्रिकेट करियर में कभी भी नो-बॉल नहीं फेंकी। जितनी अच्छी उनकी बैटिंग थी, उससे कई ज़्यादा अच्छी वे गेंदबाज़ी करते थे, लेकिन जितना साफ उनका बॉलिंग करियर रहा उतना वो अपनी निजी जिंदगी को नहीं रख पाए। उनके दामन पर विवादों के इतने दाग लगे हैं, जिससे उनका पूरा आँचल ही मैला हो चुका है। उनके ऊपर ऐसे-ऐसे आरोप लगे जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती।

Imran Khan

कई लड़कियों के साथ जुड़ा नाम

इमरान खान लड़कियों के बीच काफी फेमस थे। अभिनेत्रियों के साथ भी उनके अफेयर्स के चर्चे आम रहे हैं। उनका नाम पाकिस्तान की पूर्व पीएम बेनजीर भुट्टो के साथ भी जुड़ा था, कहा तो ये तक गया, कि दोनों के बीच शारीरिक संबंध भी थे। इमरान खान का नाम भारत की मशहूर एक्ट्रेस जीनत अमान के साथ भी जुड़ा था। अरबपति बिजनेसमैन की बेटी सीता व्हाइट से उनके रिश्ते ने खूब सुर्खियां बंटोरी थीं। अफेयर के बाद सीता व्हाइट ने इमरान खान पर आरोप भी लगाया था, कि इमरान से उन्हें एक बेटी भी हैं। हालांकि इमरान सीता व्हाइट के इस आरोप को हमेशा नकारते रहे।

जरुर पढ़ें:  मॉब लिचिंग का खौफ, मुस्लिम इंजीनियर ने बुरका पहन कर ट्रेन में किया सफर
Sita White with daughter

तीन शादियां और रेहम खान की किताब

इन अफेयर्स के अलावा इमरान खान ने तीन शादियां की है। उन्होंने जेमाइमा गोल्डस्मिथ, रेहम खान और बुशरा मानेका से शादियां की हैं। अभी इमरान अपनी तीसरी पत्नी बुशरा मानेका के साथ रहते हैं। उनकी दूसरी पत्नी रेहम खान ने एक किताब लिखी है, जिसकी वजह से इमरान की दूसरी शादी काफी चर्चा में रही। इस किताब में रेहम खान ने इमरान पर कई संगीन आरोप लगाए है। रेहम ने अपनी किताब में लिखा है, कि इमरान खान का दिल पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक पर भी आया था। उन्होंने ये भी दावा किया, कि एक महिला पत्रकार उनसे मिली थीं, जिसने पाकिस्तानी फिल्म एक्ट्रेस रेशम का हवाला देते हुए कहा कि ट्रांसजेंडर डांसर रिमाल आजकल इमरान को अपनी सेवाएं दे रहा है। साथ ही उन्होंने इमरान के 5 नाजायज बच्चों के बारे में बताया और इमरान की पार्टी के महिला कार्यकर्ताओं से शारीरिक संबंधों के बारे में भी खुलासा किया था। हालांकि रेहम और इमरान की शादी का रिश्ता महज़ 10 महीनों का रहा। अपने एक बयान में इमरान ने रेहम से शादी करने को उनकी सबसे बड़ी गलती बताया था।

जरुर पढ़ें:  चीन ने वीटो पावर से किया मसूद का बचाव, जानिए क्या है ये वीटो पॉवर?
Reham Khan

पार्टी मेंबर ने शोषण का लगाया था आरोप

साल 2017 में इमरान पर आयेशा गुललाई नाम की एक महिला ने उसका शोषण करने का आरोप लगाया था। महिला इमरान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ की पूर्व सदस्य भी रह चुकी हैं। हालांकि आयेशा गुललाई ने बाद में इमरान से माफ़ी मांगी थी। माफ़ी मांगने के पहले उन्होंने ये शर्त रखी थी, कि अगर इमरान अपनी गलती मानते हैं तभी वे उनसे माफ़ी मांगेंगी।

Ayesha Gulalai

बॉल टेंपरिंग का आरोप

साल 1994 में इमरान का नाम बॉल टेंपरिंग से भी जोड़ा गया। इमरान ने अपनी आत्मकथा में ये कबूल किया है, कि वे मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ किया करते थे। वे बॉल को ज़्यादा स्विंग करवाने के लिए lanolin या फिर Vaseline का इस्तेमाल किया करते थे।

Imran Khan bowling

ड्रग्स लेने के के भी लगे आरोप

उनकी टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी इमरान पर संगीन आरोप लगा चुके हैं। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी यूनिस अहमद ने इमरान खान पर अय्याश होने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था, कि कोलकाता में भारत के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच के बाद इमरान की परिचित दो लड़कियों ने पूरी टीम के लिए पार्टी रखी थी, जिसमें लोगों ने ड्रग्स भी लिया था। यूनिस ने कहा था, कि उसी पार्टी में उन्हें कई लड़कियों के साथ इमरान के अफेयर्स के बारे में पता चला था। साल 1987 में पाक क्रिकेट टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी कासिम उमर ने भी इमरान पर आरोप लगाते हुए कहा था, कि इमरान ड्रग्स लेते हैं। उन्होंने ये भी कबूल किया था, कि वे खुद इमरान को ड्रग्स मुहैया कराते रहे हैं। इमरान पर लगे ड्रग्स के आरोपों को बाद में मामूली सी जांच-पड़ताल कर मामले को बंद कर दिया गया था।

जरुर पढ़ें:  इलाहाबाद का नाम बदलते ही हिमाचल प्रदेश सरकार भी आई एक्शन में शिमला का नाम बदलकर होगा ये नाम!
Qasim Umar

इतने आरोपों के बाबजूद भी इमरान खान पर पाकिस्तान की जनता ने इस चुनाव में भरोसा दिखाया और उनकी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ को सबसे ज़्यादा सीटें जीताई।आपको बता दें, कि इमरान खान ने 1996 में पार्टी का गठन किया था। पिछले आम चुनाव यानी कि 2013 में तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी पकिस्तान की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और इस बार वो सत्ता में है।

देखें वीडियो-

Loading...