नई दिल्ली। एक समय था जब देश में कांग्रेस की सरकार थी। तब देश के पीएम थे मनमोहन सिंह। वही मनमोहन सिंह जो वाजपेयी सरकार में कभी देश के वित्त मंत्री भी रह चुके थे। उन्हें विश्व के प्रमुख अर्थशास्त्रियों में गिना जाता है। तब देश के एक बाबा ने भाजपा कैंडिडेट नरेंद्र मोदी के लिए पेट्रोल के मुद्दे पर वोट मांगा था। क्या आपको याद है वह दिन।

याद कीजिये उस दिन को जब पतंजलि प्रमुख और योग गुरू बाबा रामदेव ने बीजेपी के लिए (खासकर अभी के पीएम नरेंद्र मोदी के लिए) पेट्रोल के मुद्दे पर लोगों से वोट मांगा था। बाबा ने तब कहा था कि यदि देश में नरेंद्र मोदी की सरकार बनती है तो देश में 35 रूपए प्रति लीटर पेट्रोल मिलेगा। 2014 की चुनाव रैलियों में बीजेपी ने इसे प्रमुख मुद्दा बनाया था।

जरुर पढ़ें:  116 प्रोफेसर नही कर पाए VVPAT-EVM की परिक्षा पास, जिलाधिकारी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस..

आपको याद है इंडिया टीवी शो ‘आप की अदालत’ का वो एपिसोड जिसमें बाबा रामदेव ने कहा था, “पेट्रोल का बेसिक प्राइस 35 रुपए है। उसपर सरकार ने 50 फीसदी का टैक्स लगा रखा है।” तब उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा था कि यहां पर युवा मौजूद हैं। तब बाबा ने पूछा था, ” अच्छा बच्चों, ये बताओ- आपको 75-80 का पेट्रोल चाहिए या फिर 35 का।”

देखिए वो इंटरव्यू जब बाबा रामदेव ने 35 रुपए पेट्रोल की बात कही थी…

लेकिन आपको बता दें कि पिछले चार सालों से देश में बीजेपी की सरकार है। तबसे आज तक न तो पेट्रोल 35 रुपए हुआ और न ही रसोई गैस का सिलेंडर। गैस सिलेंडर के दामों में बढ़ोतरी से तो किचन में आग लगी हुई है। तब बाबा रामदेव ने 300 रुपए प्रति सिलेंडर के नाम पर बीजेपी के लिए वोंट मांगा था। हालांकि अभी तक रसोई गैस सिलेंडर का दाम 300 रुपए हुआ नहीं है। देखते हैं कब तक होता है।

जरुर पढ़ें:  2019 लोकसभा चुनाव : कांग्रेस के साथ चंद्रबाबू नायडू, बीजेपी मुश्किल में!

अब बात करें पेट्रोल के ताजा कीमतों के बारे में तो आपको बता दें कि पेट्रोल दाम 88 रुपए से ऊपर पहुंच गया है। वहीं रसोई गैस का दाम भी 750 के ऊपर चला गया है। हालांकि बीजेपी सरकार ने बाद में वादा किया कि जीएसटी टैक्स दर लागू होने से सामान के दामों में राहत मिलेगी। लेकिन अभी भी महंगाई रुकने का नाम नहीं ले रही है, रोजमर्रा के सामान लगातार महंगे होते जा रहे हैं।

Loading...