इस्लामाबाद। आर्थिक संकट से उबरने में पाकिस्तान की सऊदी अरब ने मदद की। इमरान ने हाल ही में सऊदी अरब का दौरा किया था। दौरे के बाद सऊदी ने पाकिस्तान को 6 अरब डॉलर(करीब 44 हजार करोड़ रुपये) की मदद देने की बात कही थी। वहीं अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान नए कर्ज के लिए चीन की दौरा भी करने वाले हैं।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि इमरान खान के नेतृत्व में एक टीम दो से पांच नवंबर तक चीन के दौरे पर रहेगा। बताया जा रहा है कि इमरान के साथ विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी होंगे। दोनों देशों के बीच इस दौरान कई समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे। इमरान राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री ली कछयांग समेत चीन के कई नेताओं से मुलाकात भी करेंगे।

जरुर पढ़ें:  दीवाली पर कोर्ट के नियमों का किया उल्लंघन तो पुलिस ने 323 लोगों को किया गिरफ्तार

पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि सऊदी अरब से मिला राहत पैकेज पर्याप्त नहीं है। पाकिस्तान को और आर्थिक मदद की जरूरत है। आर्थिक संकट को टालने के लिए अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) से बेलआउट मांगने की भी योजना है। हालांकि आईएमएफ से बेलआउट पैकेज लेना थोड़ा मुश्किल है पाकिस्तान के लिए।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

बता दें कि इमरान ने बुधवार को कहा था कि और कर्ज पाने के लिए दो मित्र देशों के साथ बातचीत चल रही है। वहीं सऊदी की मदद से पाकिस्तान पर से दबाव कम हुआ है। पाकिस्तानी पीएम इमरान खाने ने कहा कि सऊदी से मदद मिलने के बाद मुद्रा भंडार में गिरावट से थोड़ी राहत मिली है।

जरुर पढ़ें:  मस्जिद में पादना पड़ा महंगा, पाकिस्तानी जज ने सुनाई सज़ा-ए-मौत

पाकिस्तानी रुपए लगभग 30 प्रतिशत नीचे गिर चुका है। इसका सबसे ज़्यादा असर मध्यम और निचली आयवर्ग के लोगों पर पड़ रहा है। इसके साथ ही ये चर्चा भी गरम हैं कि सरकार आने वाले वक़्त में कुछ महत्वपूर्ण कटौतियां कर सकती है।

Loading...