World Heart Day 2018: वो दौर गया जब सिर्फ 50 साल की उम्र के ही लोगों को हार्ट अटैक का खतरा होता था। अब तो 30 के उम्र के लोग भी इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आने लगे हैं। जी हां, 30 से 40 उम्र के लोगों को दिल संबंधी बीमारियों होने लगी है। इन रोगों का कारण सिर्फ तनाव है और इससे मुक्ति पाने के लिए कुछ लोग धूम्रपान, नींद की दवाएं, शराब का सेवन करते हैं। जो उन्हें दिल की बीमारी की तरफ ले जा रही है। आपको ये बीमारी ना हो और आप इससे खुद को बचाने के लिए पहले से ही सतर्क कर सकें, इसीलिए हम आपको हृदय रोगों के कुछ लक्षण के बारे में बताते हैं।

1. छाती में बेचैनी महसूस होना
यदि आपकी आर्टरी ब्लॉक है या फिर हार्ट अटैक है तो आपको छाती में दबाव महसूस होगा और दर्द के साथ ही खिंचाव महसूस होगा।

जरुर पढ़ें:  थाने से लेकर अस्पताल तक शराबी लड़की का उत्पात,मीडिया को गालियां दीं, मारने को दौड़ीं

2. मतली, हार्टबर्न और पेट में दर्द होना
दिल संबंधी कोई भी गंभीर समस्या होने से पहले कुछ लोगों को उलटी आना, सीने में जलन, पेट में दर्द होना या फिर पाचन संबंधी दिक्कतें आने लगती हैं।

3. हाथ में दर्द होना
कई बार दिल के रोगी को छाती और बाएं कंधे में दर्द की शिकायत होने लगती है। ये दर्द धीरे-धीरे हाथों की तरफ नीचे की ओर जाने लगता है।

4. कई दिनों तक कफ होना
यदि आपको काफी दिनों से खांसी-जुकाम हो रहा है और थूक सफेद या गुलाबी रंग का हो रहा है तो ये हार्ट फेल का एक लक्षण है।

5. सांस लेने में दिक्कतें होना
सांस लेने में दिक्कतें होना या फिर कम सांस आना हार्ट फेल होने का बड़ा लक्षण है।

जरुर पढ़ें:  अगर आपके पास कार या बाइक है तो दिल्ली में जारी हो गया है ये नया नियम हो सकती दिकक्त..

6. पसीना आना
सामान्य से अधिक पसीना आना खासतौर पर तब जब आप कोई शारीरिक क्रिया नहीं कर रहे तो ये आपके लिए एक चेतावनी हो सकती है।

7. पैरों में सूजन
पैरों, टखनों, तलवों और एंकल्स में सूजन आने का मतलब ये भी हो सकता है कि आपके दिल में रक्त का संचार ठीक से नहीं हो रहा है।

8. चक्कर आना या सिर घूमना
कई बार चक्कर आने, सिर घूमने, बेहोश होने, बहुत थकान होने जैसे लक्षण भी एक चेतावनी हैं।

 

इन लक्षणों को जानने के बाद जानें दिल के रोग से बचाव के बारे में.

तनाव से बचें, एक्सरसाइज करके भी दिल का ख्याल रखा जा सकता है. इसके लिए आपको नियमित तौर पर एक्सरसाइज करनी होंगी। दिल से संबंधित किसी भी एक्सरसाइज के लिए डॉक्टर की सलाह भी जरूरी है

जरुर पढ़ें:  पटियाला हाउस कोर्ट ने किया जेएनयू नारेबाजी मामले पर सुनवाई से इनकार

दिल की सलामती के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई सही तरीके से हो इसके लिए वॉल्व्स का स्वस्थ और खुला होना बहुत जरूरी है। खड़े होकर की जाने वाली एक्सरसाइज करें, जिससे हृदयतंत्र को लाभ पहुंचे, गहरी सांस लेने से छाती में फैलाव होता है जिससे दिल को भरपूर ऑक्सीजन मिलती है।

1. भोजन की मात्रा पर ध्यान दें.

2. घर पर खाने को हमेशा प्राथमिकता दें.

3. अधिक फाइबर वाला खाना खाएं.

4. खाने में नमक और पहले से तैयार भोजन का सेवन कम से कम करें.

5. नुकसानदेह चिकनाई यानी वसा की जगह फायदेमंद चिकनाई खाएं.

Loading...