कहते हैं, ‘हेल्थ इस वेल्थ’, अगर आप स्वस्थ हैं तो आप दुनिया के सबसे खुशनसीब इंसान हैं। सुबह भाग-भागकर अपनी निकली हुई तोंद कम करने की बात हो या फिर जिम जाकर सिक्स पैक एब्स बनाने की। इन सभी में ज़रूरी ये है, कि आप स्वस्थ हैं या नहीं। स्वस्थ रहने के लिए ज़रूरी है रोज़ एक्सरसाइज करना। विश्व योग दिवस के दिन गली मुहल्ले में, सोशल साइट पर, टीवी की स्क्रीन पर हर जगह योग करते हुए लोग ही दिखाई दे रहे हैं।

विश्व योग दिवस पर योग करते लोग

योग की बात की जाएं, इसके फायदे ही फायदे हैं। ये आपको फिट रखता है, आपका माइंड कूल रखता है, आपका इम्यून सिस्टम बढ़ि रखता है। तो मेरे दोस्त, अगर आप योग करते हैं तो आपकी 100 साल की उम्र तो पक्की है। इसके बारे में एक बहुत अच्छी बात ये है, कि योग के लिए आपको बहुत सारे पैसे भी खर्चने नहीं पड़ते। बहुत बड़ी जगह की भी ज़रूरत नहीं पड़ती। आप एक छोटा सा कारपेट बिछा कर अपने घर में, अपने लॉन में, अपनी टेरेस पर, गार्डन में या किसी भी खाली जगह पर, सुबह हो या शाम कभी भी कर सकते हैं। इतना ही नहीं योग की कुछ क्रियाएं तो इतनी आसान और सरल है, कि इन्हें आप दफ्तर में कुर्सी पर बैठे-बैठे भी कर सकते हैं।

जरुर पढ़ें:  गंगा की सफाई पर सरकार ने कानून नहीं बनाया तो अनशन पर बैठे स्वामी सानंद ने तोड़ा दम..
योग क्रिया का Graphics

योग आपके दिन भर की थकावट को दूर करता। योग करने के बाद आप तरो-ताजा महसूस करते हैं। जिन्हें ज्यादा गुस्सा आता है उन्हें शान्ति देता है। इतनी ही नहीं योग आपको निरोगी भी रखता है। योग की शुरुआत 5000 साल पहले “इंडस सरस्वती सिविलाइज़ेशन” के लोगों ने की थी। योग शब्द का इस्तेमाल सबसे पहले ‘ऋवेद’ में किया गया था। धीरे-धीरे ज़माने के साथ योग करने के तरीके भी बदलते गए।

सूर्य नमस्कार की एक मुद्रा में युवती

हम जब भी योग की बात करते हैं, तो बाबा- रामदेव ही याद आते हैं । या फिर आखों के सामने एक योगी सुखासन मुद्रा में बैठे नज़र आता है। अगर थोड़ी और गहराई से सोचा जाए तो को लोग ” अनुलोम-विलोम ” या फिर “सिरसासन , कपाल-भांति” करने के मुद्रा में याद आते हैं ।

जरुर पढ़ें:  उन्नाव दुष्कर्म केस में सीबीआई को मिला दो हफ्ते का और वक्त
कपाल भांति करते योगगुरू बाबा रामदेव

लेकिन योग में वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाने लगें हैं। कोटा में आयोजित 2018 अंतरराष्ट्रीय योग दिवस खुद में ही एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बन चूका है। इस साल यहां 2 लाख से भी ज़्यादा लोगों ने एक साथ योग किया, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। इतनी ही नहीं लोगों ने यहां अलग-अलग आसन करके भी 100 वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किए।

योग दिवस पर बने कई विश्व रिकॉर्ड

योग को लेकर लोगों में कई भ्रांतियां भी हैं, लोगों में ये भ्रम है, कि ‘कपाल-भांति’ 5 मिनट से ज्यादा नहीं कर सकते लेकिन महेश योगी ने लगातार 23 घंटे 10 मिनट में ढाई लाख बार कपाल भांति कर इसे गिनिज बुक में दर्ज भी करा दिया। इसना ही नहीं  योगिनी शीतल ने 20 घंटे तक लगातार “अनुलोम-विलोम” कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। योग गुरू संदीप आर्य ने 17 घंटे में 10,000 बार ‘सूर्य-नमस्कार’ किया। संदीप आर्य इतने फुर्तीले है कि पलक झपकने से कम वक्त में ये एक बार सूर्य-नमस्कार कर लेते हैं। एक योगिनी ने लगातार 3 घंटे तक गर्भासन में बैठकर यहां मौजूद सब लोगों को हैरान कर दिया। दुनिया में पहली बार गर्भासन में कोई व्यक्ति इतनी देर तक बैठा है, जो एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है।

जरुर पढ़ें:  YouTube पर 10 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया गाना, आपने देखा क्या?
गर्भासन करती हुई योगिनी

आज कल युवा अपने फिटनेस पर बहुत ध्यान देतें हैं। जिम जाना उनकी पहली पसंद बन चुकी है। पर अब युवा भी योग में दिलचस्पी ले रहे हैं। वो भी योग करने लगे हैं। हॉलीवुड हो या फिर बॉलीवुड अभिनेत्रियां, सबकी दिनचर्या में योग ज़रूर शामिल होता है।

योग करते हुए बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी

योग अब वैश्विक बन चुका है, ग्लैमर भी इसके साथ जुड़ चुका है, इसलिए इसकी ओर युवा आकर्षित हो रहे हैं। योग कई लोगों के लिए रोजगार का साधन भी है। हो जो भी सदियों पुरानी इस पद्धति को विलुप्त होने से बचाने में भारत के कई योगियों का इसमें खास योगदान हैं, इसमें बाबा रामदेव को विशेष श्रेय जाता है। और प्रधानमंत्री मोदी को भी जिन्होंने इसे यूएन तक पहुचाकर वैश्विक पहचान दिलवाई।

Loading...