कहते हैं हुनर किसी का मोहताज नहीं होता, और इस कहावत को सच्च कर दिखाया है महज 10 साल की एक बच्ची ‘रिया पलारिया’ नें. हलद्वानी गौलापार की रहने वाली रिया पलारिया ने अपने हुनर का एसा प्रदर्शन दिखाया जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया.

आपको बता दें, रिया पलारिया निरालांबा चक्रासन में विश्व रिकॉर्ड तोड़ने के कगार पर खड़ी हैं. जी हां, निरालांबा चक्रासन को जब रिया 1 मिनट में 25 बार करती हैं तो देखने वाले भी हैरान रह जाते हैं. अभी तक ये रिकॉर्ड मैसूर की 13 साल की बच्ची ‘खुशी’ के नाम है जो इस आसन को 1 मिनट में 15 बार कर लेती हैं. लेकिन आब रिया उन्हें पछाड़ती रज़र आ रही हैं.

जरुर पढ़ें:  जानिए बतौर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की जिंदगी की कुछ रोचक बातें..

रिया हलद्वानी के एक निजी स्कूल में 5वी कक्षा की स्टूडेंट हैं. वे बचपन से ही योगा, जिम्नास्टिक की शौकीन रही हैं. अपने सपने को पूरा करने के लिए रिया रोज करीब 15 किलोमीटर का सफर तय करती हैं, जिसमें उनके माता पिता उनका पूरा साथ दे रहे हैं. अपनी इस कामयाबी पर रिया काफी खुश हैं.

रिया की इस कामयाबी में उन्का पूरा साथ उनके मास्टर ट्रेनर अमित सक्सेना ने दिया. उनका बस यही सपना है कि रिया जल्द से जल्द ये विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लें. बच्चे कामयाबी के शिखर पर खड़े हों तो माता पिता के लिये इससे बड़ी खुशी और क्या हो सकती है? रिया के पिता नवीन और मां हेमा का भी यही कहना है. जिस उम्र में बच्चे खेलने-कूदने में मस्त रहते हैं, उस उम्र में रिया ने ये कारनामा कर दिखाया है.

Loading...