राम मंदिर के निर्माण को लेकर विश्व हिंदू परिषद समेत तमाम हिंदू संगठनों की तरफ से आज दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विशाल धर्मसभा का आयोजन किया गया. जिसमें लगभग 10लाख लोगों ने भाग लिया. जिधर भी नज़र डालों वहां भगवा ही भगवा नज़र आ रहा था.

पूरे मैदान में श्री राम के नारे जोर शोर से गूंज रहे थे. खास बात तो ये है कि एक बड़ी तदात में भीड़ उमड़ने के बाद भी किसी प्रकार की अव्यवस्था सामने नहीं आई. और साथ ही रामलीला मैदान में धर्मसभा के समापन के बाद बड़ी संख्या में आए लोग बड़े शांत भाव से वापस जाते हुए नज़र आए हैं.

जरुर पढ़ें:  पैरों की एंक्लेट के ये फायदे जानकर रह जाएंगे दंग, हेल्थ से लेकर वास्तू तक में है मददगार

राम मंदिर को लेकर दिल्ली के रामलीला मैंदान में सभा 

देश के कोने कोने से आए हुए लोगों ने उम्मीद जताई है कि इस बार लोक सभा चुनाव के पहले पहले अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा. साथ ही धर्म सभा में आए लोगों का कहना था कि सरकार चाहे अध्यादेश लाए या फिर कानून बनाए लेकिन किसी भी हालत में अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराए नहीं तो हम सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेंगे.

विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों के साथ आरएसएस के सरकार्यवाहक भैयाजी जोशी ने भी इस बैठक में हिस्सा लिया. और साथ ही सभा में आए लोगों को आश्वासन दिया कि यदि सरकार राम मंदिर पर विधेयक लाने के लिए कोई भी ठोस प्रतिक्रिया नहीं देती है तो एक बार फिर बडी संख्या में कुंभ से शंखनाद किया जायेगा.

जरुर पढ़ें:  सूरजकुंड की ‘खूनी झील’ हर साल, क्यु ले रही है लोगो की जाने?

आरएसएस के सरकार्यवाहक भैयाजी जोशी

उन्होने आगे कहा कि सत्ता में बैठे लोगों का संकल्प भी राम मंदिर निर्माण का है. उन्हें इस संकल्प के लिए आगे बढ़ना चाहिए. लोकतंत्र में संसद का अपना अधिकार और कर्तव्य है. हम भीख नहीं मांग रहे हैं, हम अपनी भावनाओं को व्यक्त कर रहे हैं. आशा है सत्ता में बैठे लोग सकारात्मक दिशा में कदम उठाएंगे.

इस बड़ी सभा की सुरक्षा को लेकर पुलिस और अर्धसैनिक बलों के पंद्रह हजार जवानों को तैनात किया गया. दिल्ली के चप्पे चप्पे पर नजर रखी गई. रामलीला मैदान में सुबह 7 बजे से लोगों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया. राम लीला मैदान के आस पास की सभी सड़कें खचाखच भरी नजर आ रहीं थीं. राम नाम जपते हुए लोग हाथों में झंडे लिए रामलीला मैदान की ओर बढ़ रहे थे. ट्रैफिक पुलिस ने अपनी व्यवस्था चाक चौबंद रखी.

Loading...