जॉर्डन की एक इस्लामिक संस्था ने परमाणु युद्ध की धमकी देने वाले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान को ‘मुस्लिम मैन ऑफ द ईयर’ के अवॉर्ड से नवाजा है।

बता दें कि जॉर्डन की संस्था रॉयल इस्लामिक स्ट्रेटेजिक स्टडीज सेंटर ने इमरान खान को क्रिकेट के क्षेत्र में उनके योगदान, राजनीति में उनके करियर को अहम मानते हुए ‘मुस्लिम मैन ऑफ द ईयर’ अवार्ड से सम्मानित किया है। इस संस्था ने इमरान खान के साथ अमेरिकी नेता राशिदा तैलब को ‘वुमेन ऑफ दे ईयर’ का अवॉर्ड दिया गया है।

संस्थान की ओर से जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने पहले क्रिकेट जगत में अपना और देश का नाम रोशन किया और वर्ल्डकप भी जीता। इसके बाद जब वह राजनीति में उतरे तो सीधे देश के प्रधानमंत्री बन गए। ऐसे में उनका जीवन मुस्लिम लोगों के लिए प्रेरणादायी रहा है।

जरुर पढ़ें:  FACEBOOK पर नफरत फैलाने वाले कंटेंट 'बैंन'

जॉर्डन की ओर से इमरान खान को लेकर जम्मू-कश्मीर का भी जिक्र किया गया है और उनकी तारीफ की है। मैगजीन का दावा है कि इमरान ने कश्मीर के मसले पर भारत से बात करने की कोशिश की है, हालांकि उनके मनमुताबिक नतीजा सामने नहीं आया था।

अगर बात रॉयल इस्लामिक स्ट्रेटेजिक स्टडीज सेंटर की करें तो ये संस्था हर साल प्रभावशाली मुस्लिम लोगों की लिस्ट निकालती है, संस्था की ओर से टॉप 500 मुस्लिम लोगों की मैग्जीन निकाली जाती है। जिसमें महिलाओं पुरुषों दोनों को शामिल किया जाता है। पिछले साल इस संस्था ने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन को ‘मुस्लिम मैन ऑफ द ईयर’ का अवॉर्ड दिया था।

जरुर पढ़ें:  दुर्घटनाग्रस्त होते बचा इमरान का विमान, न्यूयार्क में हुई इमरजेंसी लैंडिंग

गौरतलब है कि एक तरफ इमरान खान को ये सम्मान मिला है, वहीं अगर हाल ही में उनके संयुक्त राष्ट्र में दिए भाषण को देखें तो उन्होंने दुनिया के सामने एक तरह से परमाणु युद्ध की धमकी दी थी। ऐसे में इस तरह का सम्मान सवालों के घेरे में अपने आप ही आ जाता है।

VK News

Loading...