पटना में उपेन्द्र कुशवाहा की रैली पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है. पटना में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) ने शनिवार को जनाक्रोश रैली आयोजित की थी. आरएलएसपी का कहना है कि ये रैली शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर आयोजित की गई थी. आरएलएसपी कार्यकर्ता राज्यपाल को ज्ञापन देने जा रहे थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे नहीं जाने दिया. आएलएसपी की ये रैली जेपी गोलंबर से राजभवन तक जानी थी. उपेन्द्र कुशवाहा खुद इस रैली का नेतृत्व कर रहे थे.

रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने डाक बंगला चौराहे पर उन्हें रोक लिया. नाराज RLSP कार्यकर्ता डाक बंगला चौक पर ही धरने पर बैठ गए. इस वजह से वहां जाम की स्थिति पैदा हो गई. पुलिस ने कार्यकर्ताओं से कई बार हटने की अपील की लेकिन वे नहीं हटे. इसके बाद पुलिस ने वाटर कैनन चलाया और बाद में लाठीचार्ज भी किया. पानी की बौछार से बचाने के लिए कार्यकर्ताओं ने उपेन्द्र कुशवाहा को घेरे रखा. रिपोर्ट के मुताबिक इस गहमागहमी में उनकी तबीयत भी बिगड़ गई.

जरुर पढ़ें:  कश्मीर पर सर्जिकल स्ट्राइक जैसी गलती कर बैठी कांग्रेस.....राहुल गांधी ने दिया ये बयान

लाठीचार्ज में उपेन्द्र कुशवाहा घायल हो गए, इसके बाद उन्हें PMCH के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है. डॉक्टरों का कहना है कि उनका ब्लड प्रेशर भी बढ़ गया है.

 

लाठी चार्ज के तुरंत बाद पूर्व केन्द्रीय मंत्री और RLSP चीफ उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने आरएलएसपी कार्यकर्ताओं पर लाठियां चलवाई हैं. उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि लाठीचार्ज में उन्हें चोटें भी आई है. कुशवाहा ने कहा, “नीतीश कुमार ने लाठी चलवाई है हमारे लोगों पर, मुझको चोट आई है…हमारे अनेक साथियों को लाठी लगी है.”

 

जरुर पढ़ें:  30 साल बाद कांग्रेस कि बिहार में अपनी पहली रैली , जानीए कैसी रही रैली

इससे पहले RLSP चीफ उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि उनकी पार्टी ने बिहार में शिक्षा सुधार का संकल्प लिया है. उन्होंने कहा कि बिहार के नौनिहालों के भविष्य निर्माण के लिए हम शिक्षा में सुधार करेंगे, और करके रहेंगे. उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि उनकी पार्टी ने रैली की सूचना पहले ही प्रशासन को दे दी थी. तब प्रशासन की ओर से इस पर कोई आपत्ति नहीं जताई गई थी. उन्होंने कहा कि अगर रैली को रोकना ही था तो पहले बता दिया जाता.

बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार में केन्द्रीय मंत्री रहे उपेन्द्र कुशवाहा की राहें अब केन्द्र सरकार से अलग हो चुकी है. उपेन्द्र कुशवाहा बिहार में एनडीए से अलग चुनाव लड़ने का फैसला कर चुके हैं. इसी सिलसिले में वह लगातार बिहार और केन्द्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रहे हैं.

Loading...