नई दिल्ली। आप दिल्ली में रहते हैं? नहीं रहते हैं तो कोई बात नहीं. लेकिन दिल्ली की जो खबर हम आपको बताने जा रहे हैं, वो है बड़े काम की. अगर आप भी आवारा कुत्तों से परेशान हो चुके हैं, या नहीं भी हुए हैं तो दिल्ली के लोगों की इस कमाल की खोज को आपको देखना ही चाहिए.

दिल्ली की गलियों में इन दिनों निकलेंगे तो आपको लोगों के घरों के दरवाजों पर टंगी ये बोतलेें मिल जाएंगी. इन बोतलों में कुछ नीले रंग का तरल पदार्थ भरकर रखा गया है. ये तस्वीरें ईस्ट दिल्ली के पांडव नगर इलाके की है. यहां हर दूसरे घर के दरवाजे पर ये नीले रंग से भरी बोतलें आपको लटकती हुई मिल जाएगी.

जरुर पढ़ें:  इस जगह में छुपे हैं ऐसे राज़, जो रखेंगे आपको हमेशा के लिए जवान

अब आप सोच रहे होंगे कि ये नीले रंग से भरी बोतल करती क्या है? तो आपको बता दें कि ये कुत्तों से आपके घर को बचाती है. जी हां…ये खोज दिल्ली वालों की है कि बोतल अगर आपके घर के दरवाजे पर टंगी है तो कुत्ता आकर ना सुस्सू करेगा और ना पॉटी. आपका घर स्वच्छ, सुंदर और आंगन साफ सुधरा रहेगा.

नीले रंग की ये बोतल महज किसी एक गली में ही नहीं है, बल्कि हर गली में दरवाजों के पास नीले रंग की बोतलें नजर आ रही हैं. स्थानीय लोग तो ये भी कह रहे हैं कि ये किसी को नहीं पता है कि यहां घर के सामने बोतल में नीला रंग भरकर टांगने से कुत्ते क्यों शौच नहीं करते हैं. बस एक-दूसरे की देखा-देखी नीले रंग से भरकर बोतल लटका दे रहे हैं, क्योंकि यहां के लोग कुत्तों से बेहद परेशान हैं.

जरुर पढ़ें:  तिरुपति बालाजी में चढ़ाए आपके बाल जाते हैं यहां, ब्लैक गोल्ड के नाम से होता है कारोबार।

यहां कुत्तों का इतना आतंक है कि लोग बच्चों को अकेले घरों से नहीं निकलने देते हैं. घरों के बाहर नीले रंग वाली बोतल टांगने का ये सिलसिला डी-ब्लॉक के एक परिवार ने शुरू किया था. इसके बाद ये पूरे पांडव नगर में फैल गया. कई गलियों में तो ये हालात है कि हर घर के सामने बोतल टंगी हुई नजर आती है.

हमने भी सोचा कि इस खोज की खबर ली जानी चाहिए तो हम पहुंच गए वेटनरी विभाग और वहां जानवरों के जानकार से इस बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि ये लोगों का भ्रम है, क्योंकि कुत्तों को कुछ ही रंग की पहचान होती है, उन्हें कलर ब्लाइंटनेस होती है. इसलिए इसका मतलब ये नहीं हो सकता.

जरुर पढ़ें:  शिक्षक दिवस के बारे में ये जानकारी शायद आपको न हो...

Loading...