क्या आपने कभी सुना है कि चावल गरम पानी में ना होकर ठंडे पानी में पकते हो…. नहीं ना, तो चलिए आज आपको एक ऐसी खबर बताचते है जिसे जानकर आप बेहद ही हैरान रह जाएंगें. बता दें कि  इन दिनों बंगाल में किसान एक खास किस्म के चावल की खेती कर रहे हैं. जिसे पकाने के लिए गरम पानी की नहीं बल्कि ठंडे  पानी की जरूरत होती है. ये बात जानकर आप हैरत में जरूर हो जाएंगे.  लेकिन यह सच है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस खास किस्म के चावल को कमल कहा जाता है. इसकी सबसे खास बात यह है कि इन चावलों को सामान्य पानी में डालने के बाद ये चावल कुछ ही देर में पक जाते है.  इन दिनों बंगाल के वर्द्धमान, नदिया समेत कई जिलों में इन चावलों की खेती की जा रही है. कमल चावल की को उगाने के लिए सिर्फ जैविक खाद का इस्तेमाल किया जाता है. बता दें कि अभी नदिया जिले में इसका प्रयोग 10 हेक्टेयर में किया जा रहा है.

जरुर पढ़ें:  यहां दो बीवियां रखना है ज़रूरी, एक से शादी करने पर होती है जेल

सुत्रो के मुताबिक यह धान मूलत: ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे असम में माजुली द्वीप पर उगता है. बताया जाता है कि कुछ किसान इसे बंगाल में लेकर आए थे. यहां भी इसकी अच्छी उपज होने लगी है. अब पश्चिम बंगाल सरकार ने इसके व्यवसायिक उत्पादन को प्रोत्साहित करने की घोषणा की है. बाजार में इन चावलों की कीमत करीब 70 से 80 रुपये किलो तक की है. किसान अपने घर की जरूरत के मुताबिक ही इस चावल की खेती करते हैं.

Loading...