भारतीय जनता पार्टी के राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी अपने बयानों के चलते लगातार सुर्खियों में बने रहते हैं. वैसे कहने को तो वो बीजेपी में शामिल है लेकिन अपने बयानों के जरिए वो बीजेपी पर भी कई बार हमलावर रहते हैं. इस बार स्वामी ने एक ऐसा बयान दिया है जिसका न ही साइंस से कुछ लेना देना है और न ही राजनीति से. दरअसल इंडोनेशिया में नोटों पर भगवान गणेश की प्रतिमा छपी होने की खबरों के बारे में पूछे जाने पर स्वामी ने जवाब दिया कि ‘इस सवाल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जवाब दे सकते हैं. हालांकि जहां तक मेरी बात है, तो मैं इसके पक्ष में हूं. भगवान गणेश बाधाओं को दूर करते हैं. मेरा तो यह कहना है कि धन की देवी लक्ष्मी की तस्वीर बैंक नोट में छापने से भारतीय करेंसी की स्थिति में सुधार हो सकता है. इस पर किसी को बुरा नहीं मानने की जरूरत नहीं है.’

जरुर पढ़ें:  देखिए सपना चौधरी की फिल्म 'दोस्ती के साइड इफेक्ट्स' का टीज़र, जानें क्या है खास

यानि स्वामी जी का मानना है कि अगर लक्ष्मी जी की फोटो नोट पर छप जाएगी तो अर्थव्यवस्था संभल जाएगी. इस खबर के बाद से सिक्कों की कुछ तस्वीरें वायरल हो रही है इन तस्वीरों में ब्रिटिशकाल के सिक्कों पर राम-सीता और लक्ष्मी की फोटो बनी हुई है. तस्वीरों को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि ब्रिटिश काल में भी भारतीय संस्कृति का ख्याल रखा था. लेकिन अब का भारत बदल चुका है. आप अपनी स्क्रीन पर कुछ सिक्कों की तस्वीरें देख रहे हैं. जिनपर राम-सीता के साथ-साथ लक्ष्मी की फोटो को मुद्रित किया गया है.

अगर आप भी इस खबर को सच मानने की गलती कर चुके हैं तो हम आपको इन तस्वीरों की सच्चाई बताते हैं. दरअसल ये तस्वीरें फेक हैं. हमने अपनी पड़ताल में इन तस्वीरों को फेक पाया है. बता दें कि जब हमने RBI के म्यूजियम की तस्वीरों का मिलान लक्ष्मी और राम-सीता की तस्वीरों से किया तब पता चला कि ये तस्वीरें फेक हैं.

जरुर पढ़ें:  राहुल की कान्फ्रेंस में लगे हिंदुस्तान मुर्दाबाद, कांग्रेस जिंदाबाद के नारे

गौरतलब है कि RBI के पास पुरातन काल में छपे सिक्कों की कई तस्वीरें हैं जिनमें भगवान की प्रतिमा वाली कोई तस्वीर नहीं है. अब आपको उस समय के सिक्को की तस्वीर दिखाते हैं जिसे हमने RBI के वेबसाइट से निकाला है. आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि उस समय के सभी सिक्के मुगल पैटर्न पर आधारित है. हमने अपनी पड़ताल में पाया कि ये तस्वीरें फेक हैं.

Loading...