जब से मोदी ने प्रधानमंत्री पद की कमान संभाली है तभी से ही उनको को लेकर तरह-तरह की बातें सामने आती रहती है. एक बात तो हर किसी को पता चल गयी है कि मोदी चाय बेचते थे. साथ ही उनके परिवार से जुडी भी कई बातें हैं. जिसे लेकर हमेशा पीएम मोदी की आलोचना भी होती है. मोदी अपने परिवार से दूर रहकर राजनिति करते हैं, उन्हें अपने परिवार से कोई लेना देना नहीं. वो कभी भी अपने परिवार की मदद करने के लिए कोई भी कदम नहीं उठाते हैं.

बता दें कि मोदी के एक भाई तो राशन की दुकान तक चलाते हैं. मोदी ने अपनी पत्नी को छोड़ रखा है. यही नहीं बल्कि जिस माँ ने उन्हें जन्म दिया है उन्हें भी वे प्रधानमंत्री भवन में अपने साथ नहीं रखते. जरा सोचिये हर छोटे से छोटा नेता अपने परिवार को सुख सुविधाएं दिलवाने के लिए पूरा प्रयास करता है तो वहीँ पीएम मोदी इन सब बातों को छोड़कर अपने काम में मस्त हैं.

जरुर पढ़ें:  आखिर लोग क्यों पीट रहे हैं मोदी के हमशक्ल को? ये है असली वजह..

लेकिन इन सबके बीच मोदी के परिवार से जुड़ी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. जिसमें दावा किया जा रहा है कि पीएम मोदी के भाई टेम्पो चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करते है. ये पोस्ट कई फेसबुक पेज और  ग्रुप्स में जमकर वायरल हो रही है. पोस्ट में जो शख़्स दिख रहा है उसे पीएम मोदी का भाई बताया गया है। पोस्ट में लिखा है कि  ‘मोदीजी के मंझले भाई टेम्पो चलाकर परिवार का भरण पोषण करते हैं और अपने यहाँ तो विधायक के परिवार वाले AC गाड़ियों में एन्जॉय करते हैं।’ इस पोस्ट को देखकर लोग तरह तरह की कमेंट भी कर रहे हैं.

जरुर पढ़ें:  ट्रंप का भारत को झटका, जीएसपी समाप्त करने का लिया फैसला

लेकिन जब हमारी वीके न्यूज़ ने  इसकी पड़ताल कि तो पता चला कि ये तस्वीर बिलकुल ठीक है. लेकिन जो इसके पीछे दावे किये जा रहे है उनमे झोल है. दरअसल ये तस्वीर तेलंगाना राज्य के अदीलाबाद जिले के एक ऑटो ड्राइवर की है। और ये लगभग ढाई साल पुरानी है. उन दिनों एक वेबसाइट पर एक खबर खूब चल रही थी जिसमे दिखाया जा रहा था कि इस ऑटो ड्राइवर का चेहरा पीएम मोदी के चेहरे से मिलता जुलता है.

बाद में इस खबर से तस्वीर को निकालकर ‘चलो चलें मोदी जी के साथ नाम के एक ग्रुप ने शेयर कर दिया. फिर क्या था लोगों ने इसको जमकर वायरल कर दिया. इसलिए वीके न्यूज़ की पड़ताल में ये तस्वीर तो ठीक निकली है लेकिन जो इस तस्वीर वाले शख्स को मोदी का भाई बताने वाला दावा बिलकुल फेक है.  वीके न्यूज़ की मुहिम #FightAgainstFakeNews जारी रहेगी. अगर आपके पास भी ऐसी कोई तस्वीर या वीडियो हो जिसपर आपको शक हो तो हमारे साथ साझा करें हम उसकी पड़ताल करेंगे और उसकी जमीनी सच्चाई आप तक पहुंचाएंगे..

जरुर पढ़ें:  क्या अमृतसर रेल हादसे वाला ट्रेन ड्राइवर मुसलमान है, और क्या उसने आत्महत्या की है?

Loading...