एशिया कप के सुपर फोर मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन और रोहित शर्मा ने शतक जड़के के सबसे बड़ी जीत दर्ज की और दोनों ने बड़ा रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है. भारतीय कप्तान रोहित शर्मा और शिखर धवन के बीच पहले विकेट के लिए 210 रनों की साझेदारी ओपनिंग जोड़ी से बनाई गई ये सबसे बड़ी साझेदारी साबित हुई.

रोहित शर्मा और शिखर धवन की साझेदारी

इस जीत पर भारतीय दर्शकों का जबरदस्त उत्साह देखने को मिला. ये उत्साह इसलिए भी देखने को मिला, क्यो कि एक तरफ तो संडे का दिन और दूसरी तरफ दो देशों के बीच युद्ध जैसा माहोल मैच शुरू होते ही दर्शकों के मन में एक ही सवाल था कि कहीं ये मैच पिछली बार की तरह एकतरफा और बोरिंग नहीं हो जाय. मगर ये तो सिर्फ तब तक लगा जब जब तक पाकिस्तान ने बैटिंग की. जब भारत की बैटिंग की बारी आई तो शिखर धवन और रोहित शर्मा ने दे दनादन मारना शुरू कर दिया. और आखिरकार नतीजा ये निकला कि भारत ने पाक के 238 वाले टारगेट को तोड़कर पाक को 9 विकेट से हरा दिया. ये तो बात रही मैच के माहोल की. लेकिन इसी मैच से जुड़ी ऐसी खबर है जो शायद मैच देखते-देखते भूल गये होगें.

जरुर पढ़ें:  वायरल सच : मोदी सरकार में बॉर्डर पर लग गई, स्मार्ट टेक्नॉलजी वाली फैंसिंग, आज से आतंकवाद खत्म..
भारत, पाक का मैच के दौरान दर्शक

मैच की शुरू से बात करें तो पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला लिया. ऐसा क्यों किया इसका जवाब तो शायद खुद पाकिस्तान के कप्तान के पास नहीं है. मतलब पिछले मैच में पहले बैटिंग करके हारे और उसके बाद फिर बैटिंग लेने का फैसला. पाक से ओपनिंग में आए इमाम उल हक और फखर जमां भारत से ओपनिंग आए भुवनेश्वर और बुमराह. दोनों ने एकदम सधी हुई गेंदबाजी की. मगर फखर और इमाम भी कसम खाके आए थे कि इस बार तो दोनों में से एक को भी विकेट नहीं देंगे. रोहित शर्मा ने भी अपने अनुभवी रुपी मंत्र का जाप किया और उनके मन की रोहित ने सुन ली और आठ वें ओवर में युजवेंद्र चहल को गेंद दे दी. तुरंत असर भी हुआ. ओवर की आखिरी बॉल पर ओपनर इमाम उल हक आउट हो गए.

जरुर पढ़ें:  जश्न नहीं मनाओगे- छोरों की हार का बदला छोरियों ने ले लिया

लेकिन अंपायर ने इसको नॉटआउट दिया. बात यही खत्म होने के कगार पर ही थी कि उसी समय फिर धोनी ने अपने पूर्व कप्तानी वाले पैतरें दिखा दिए. फिर क्या था धोनी ने तुरंत कप्तान रोहित शर्मा को रिव्यू लेने का ईशारा कर दिया रोहित ने भी एकदम एक्शन में आकर रिव्यू ले लेते हैं. वो इसलिए क्योंकि एलबीडब्लू की अपील पर अंपायर ने इसको नॉटआउट दिया था इसमें इमाम आउट निकले, ये देख भारतीय टीम उछल पड़ी.

एमएस धोनी कप्तान रोहित शर्मा को रिव्यू लेने का ईशारा करते हुए..

ये पहला मौका नहीं था जब धोनी ने ऐसी सक्रीयता दिखाई हो. इससे पहले भी कई बार धोनी ऐसा कर चुके है. जब भी धोनी रिव्यू लेते हैं तो अंपायर को अपना फैसला बदलना ही पड़ता है. धोनी ऐसे मौको से बिलकुल नहीं चूकते और तुरंत एक्शन में आकर रिव्यू ले लेते हैं. धोनी के इन रिव्यू लेने की इस क्षमता के बाद तो लोग DRS का नाम ही धोनी रिव्यू सिस्टम रखने की मांग करने लगे हैं.

जरुर पढ़ें:  धोनी की कोपी करने चले थे पाकिस्तान के कप्तान, सोशल मीडिया ने किया जमकर ट्रोल
DRS का नाम धोनी रिव्यू सिस्टम करने की मांग करते हुए लोग..
Loading...