आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा लगाए गए अजीवन प्रतिबंध के खिलाफ तेज गेंदबाज एस श्रीसंत द्वारा दायर की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला सुनाया. क्रिकेटर एस श्रीसंत पर इस मामले में कोर्ट ने श्रीसंत को बड़ी राहत दी है.
सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई से कहा है कि बोर्ड के पास किसी भी मामले में क्रिकेटर पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का अधिकार होता है. लेकिन श्रीसंत को दी गई सजा अधिक है. कोर्ट ने कहा है कि बीसीसीआई उसकी सजा पर फिर से विचार करे और तीन महीने में निर्णय ले. शीर्ष कोर्ट के जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस के एम जोसेफ की बेंच ने सुबह 10:30 बजे अपना फैसला सुनाया.
दरअसल, बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आईपीएल-2013 में स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए जाने पर अजीवन प्रतिबंध लगाया था। इसके खिलाफ श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. इससे पहले बीसीसीआई ने कोर्ट में कहा कि श्रीसंत पर भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी और खेल को बेइज्जत करने के आरोप हैं.
खेल में भ्रष्टाचार और सट्टेबाजी के लिए आजीवन प्रतिबंध ही सही सजा
बीसीसीआई के वरिष्ठ वकील पराग त्रिपाठी ने कहा था कि खेल में भ्रष्टाचार और सट्टेबाजी के लिए आजीवन प्रतिबंध ही सही सजा है. वकील पराग त्रिपाठी ने इस मामले में रिकॉर्ड की गई टेलीफोन बातचीत का हवाला देते हुए कहा था कि इससे साफ-साफ जाहिर हो रहा है कि जो रकम श्रीसंत ने मांगी थी वो उन्हें मिल गई थी.
इसके साथ ही बीसीसीआई ने कोर्ट में ये भी कहा था कि श्रीसंत ने उन 10 लाख रुपये के स्रोत के बारे में भी जांच समिति को नहीं बताया था, जिसकी चर्चा टेलीफोन पर बातचीत के दौरान की गई है.
नहीं हुई थी कोई स्पॉट फिक्सिंग: वकील सलमान खुर्शीद
वहीं, इस मसले पर श्रीसंत की तरफ से वकील सलमान खुर्शीद ने कहा था कि आईपीएल के दौरान कोई स्पॉट फिक्सिंग नहीं हुई थी. इसलिए जब फिक्सिंग हुई ही नहीं तो श्रीसंत के खिलाफ लगाएं गए सभी आरोप बेबुनियाद है.
बता दें कि श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंदीला सहित स्पॉट फिक्सिंग मामले में सभी 36 आरोपरियों को जुलाई 2015 में पटियाला हाऊस कोर्ट ने आपराधिकमामले से बरी कर दिया था। श्रीसंत ने 2015 में श्रीलंका के खिलाफ नागपुर में एकदिवसीय मैच के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट पदार्पण किया. श्रीसंत ने 27 टेस्ट में 37.59 के औसत से 87 विकेट जबकि वनडे में 53 मैचों में 33.44 की औसत से 75 विकेट चटकाए.

जरुर पढ़ें:  दहेज प्रताड़ना के आरोप में फंसे तेज गेंद बाज मोहम्मद शमी, चार्जशीट दाखिल
Loading...