भारत हमेशा से ही पाकिस्तान की आतंकी नीतियों के चलते उसका विरोध करता रहता है. और तो और सही मौका आने पर सबक भी सिखाता रहता है. लेकिन पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आए ऐसा होना तो मुश्किल है. क्योंकि पाकिस्तान की पीठ में छुरा मारने की पुरानी आदत है. पाकिस्तान अपनी इन्हीं  हरकतों के चलते अंतरराष्ट्रीय मंचो पर घेरा जा रहा है. जिसके चलते पाकिस्तान से कोई देश व्यापार तो क्या खेल में भी साझेदारी नहीं करना चाहता है. इसी वजह से पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था की कमर लगातार टूटती जा रही है. और तो और पाकिस्तानी पीएम इमरान खान भीख तक मांगने को मजबूर हैं.

जरुर पढ़ें:  Asia Cup: भारत और पाक मुकाबले में कौन मारेगा बाजी

लेकिन पाकिस्तान भले ही भारत की खिलाफत करता रहे. इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि पाकिस्तान हमेशा भारत की रेहनुमाई पर ही जिंदा रहता है. बता दें कि इस बार एक भारतीय ने बांग्लादेश को पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने के लिए मना लिया है. जी हां आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर ने पाकिस्तान और बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के बीच तीन चरणों में होने वाली पूर्णकालिक श्रृंखला के लिए एक करार करवा दिया है.

ये श्रृंखला जनवरी से लेकर अप्रैल तक पाकिस्तान में खेली जाएगी. समझौते के अनुसार बांग्लादेश लाहौर में 24 से 27 जनवरी के बीच तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला खेलेगा. बता दें कि बांग्लादेश ने पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने से मना कर दिया था. जिसपर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने सफाई देते हुए कहा था कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने ईरान और अमेरिका में बढ़ रहे तनाव के चलते क्रिकेट खेलने से मना किया है.

जरुर पढ़ें:  साइना नेहवाल ने रचाई पी कश्‍यप से शादी, देखें नवविवाहित जोड़े की तस्वीरें

लेकिन इसके पीछे की सच्चाई की बात करें तो पाकिस्तान के साथ कोई देश किसी भी तरह का कोई मंच सांझा नहीं करना चाहता है. बता दें कि पहले भी पाकिस्तान में श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर आतंकी हमला किया जा चुका है. टीम पर 2009 में हुए आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान में टेस्ट क्रिकेट की वापसी हुई है. गौरतलब है कि भारत की पहल पर 10 साल बाद पाकिस्‍तान में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट मैच खेला जाएगा.

Loading...