दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष पद से रजत शर्मा ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है ईमानदारी और पारदर्शिता वाले मेरे सिद्धांतों के साथ डीडीसीए में चलना संभव नहीं है, जिससे मैं किसी भी कीमत पर समझौता करने के लिए तैयार नहीं हूं।’

गौरतलब है कि इसी साल जुलाई में वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा पूर्व क्रिकेटर मदन लाल को 517 मतों से हराकर डीडीसीए के अध्यक्ष बने थे। रजत शर्मा के इस्तीफे की जानकारी (डीडीसीए) ने ट्विटर पर दी है। बता दें कि रजत शर्मा ने अध्यक्ष रहते दिल्ली के फिरोजशाह कोटला का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम रखने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी मिली। दिवंगत पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली और पत्रकार पत्रकार रजत शर्मा अच्छे मित्र थे।

जरुर पढ़ें:  मौलाना का ऐलान- इमरान के इस्तीफे तक जारी रहेगा 'आजादी मार्च'

रजत शर्मा ने इस्तीफा देते हुए डीडीसीए मेम्बर्स से कहा, ‘जब से आपने मुझे डीडीसीए का अध्यक्ष चुना है, मैंने लगातार आपसे संवाद जारी रखा है। मैं समय-समय पर आपको अपने काम के बारे में जानकारी देता रहा हूं। मैंने डीडीसीए को बेहतर बनाने के लिए, प्रोफेशनल और पारदर्शी बनाने के लिए जो कदम उठाए हैं, उसके बारे में आपको बताया है।’

रजत शर्मा ने कहा, ‘मैंने आपसे किए गए वादों के पूरा होने की जानकारी दी। यहां काम करना आसान नहीं था, लेकिन आपके विश्वास ने मुझे ताकत दी। आज मैंने डीडीसीए का अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया है और अपना इस्तीफा एपेक्स काउंसिल को भेज दिया है। आपने जो प्यार और सम्मान मुझे दिया है उसके लिए मैं हमेशा आपका आभारी रहूंगा।’

जरुर पढ़ें:  निशानेबाजी विश्व कप में संजीव राजपूत ने जीता सिल्वर मेडल

VK News

Loading...