नई दिल्ली। एशिया कप 2018 का फाइनल भारत और बांग्लादेश के बीच खेला जा रहा है। भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया है। इस टूर्नामेंट में भारत जहां सातवीं बार चैंपियन बनने के लिए उतरा है, वहीं बांग्लादेश की नज़र पहली बार इस खिताब पर है।

फाइनल में पहुंचने के बाद बांग्लादेश टीम की कोशिश होगी कि किसी भी तरह से इस मौके को हाथ से जानें न दे। बांग्लादेश ने पाकिस्तान को हराकर फाइनल में जगह बनाई है।

फाइनल के लिए भारतीय टीम

जरुर पढ़ें:  विशाखापट्टनम टेस्ट मे भारत ने साउथ अफ्रीका को चटाई धूल

रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, अंबाती रायुडू, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धौनी, केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह।

फाइनल के लिए बांग्लादेश की टीम

लिटन दास, सौम्या सरकार, मोमिनुल हक, मोहम्मद मिथुन, मुश्फिकुर रहीम, इमरूल कायस, महमदुल्लाह, मशरफे मुर्तजा (कप्तान), मेहदी हसन, रूबेल हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान।

बता दें कि भारत ने सुपर-4 के मैच में बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया था। हालांकि फाइनल में बांग्लादेश की कोशिश होगी कि वह भारत के सामने ऊंचा स्कोर खड़ा करे ताकि मैच में अपनी पकड़ बना सके। टीम इंडिया के हौसले बुलंद होंगे क्योंकि इस टूर्नामेंट में भारत ने एक भी मैच नहीं हारा है।

जरुर पढ़ें:  विश्व महिला मुक्केबाजी के सेमीफाइनल में हार के बाद जमुना को मिला कांस्य

मैच में वापसी के लिए बांग्लादेश को भारतीय सलामी बल्लेबाजों रोहित और शिखर धवन से सतर्क रहना होगा। भारतीय गेंदबाजों ने भी विपक्षी बल्लेबाजों का काम मुश्किल कर रखा है। वैसे मशरफे मुर्तजा की टीम बगैर किसी दवाब के खुलकर खेलेगी क्योंकि टीम में तमिम इकबाल और शाकिब अल हसन अनुपस्थिति हैं।

Loading...