सिंगर हिमेश रेशमिया की अपकमिंग फिल्म हैप्पी हार्डी एंड हीर का सॉन्ग ‘तेरी मेरी कहानी’ रिलीज से पहले ही पॉपुलर हो गया है. गाने को हिमेश रेशमिया के साथ इंटरनेट सेंसेशन रानू मंडल ने गाया है. ‘तेरी मेरी कहानी’ सॉन्ग का टीजर रिलीज होते ही छा गया था. अब बुधवार को हिमेश-रानू का ये सॉन्ग रिलीज हो गया है. सॉन्ग लॉन्च इवेंट में हिमेश रेशमिया के साथ उनकी पत्नी सोनिया कपूर और रानू मंडल भी मौजूद थीं. इस दौरान अचानक मीडिया से बात करते वक्त हिमेश रेशमिया भावुक हो गए.

इस मौके पर गाने की सिंगर रानू मंडल और हिमेश रेशमिया की पत्नी सोनिया कपूर भी मौजूद थीं. इस दौरान मीडिया से बात करते वक्त हिमेश रेशमिया इमोशनल हो गए और अपने आंसू नहीं रोक पाए. ये देखते ही हिमेश की पत्नी सोनिया ने फौरन पति के आंसू पोंछे और उन्हें चुप कराया.

जरुर पढ़ें:  बॉलीवुड छोड़ साउथ पहुंची कटरीना, महेश बाबू संग कर सकती हैं काम!

जिस वक्त हिमेश रेशमिया भावुक हुए उनकी पत्नी उनके आंसू पोछते दिखीं. रोते हुए हिमेश रेशमिया की ये तस्वीरें वायरल हो रही हैं. सॉन्ग लॉन्च इवेंट में रानू मंडल ओरेंज कलर की साड़ी में पहुंची थीं. वे काफी खुश नजर आ रही थीं. आखिरकार उन्हें हिमेश रेशमिया की वजह से म्यूजिक इंडस्ट्री में गाने का मौका जो मिला है. ये दिन रानू मंडल के लिए काफी खास है.

इवेंट में हिमेश रेशमिया उनकी पत्नी सोनिया के साथ रानू मंडल भी बैठी दिखीं. रानू मंडल ने मीडिया के सवालों का खुलकर जवाब दिया. बता दें, रानू मंडल तब लाइमलाइट में आई थीं जब सोशल मीडिया पर उनका रेलवे स्टेशन पर गाना गाते हुए वीडियो  वायरल हुआ. वे लता की आवाज में गाए सॉन्ग “एक प्यार का नगमा है” को गाती दिखीं.

जरुर पढ़ें:  फिल्म रिव्यू: कमाल का धमाल किया है टोटली लाजवाब फिल्म टोटल धमाल

ये वीडियो वायरल होते ही लोग रानू मंडल की आवाज और गायिकी की तुलना लता मंगेशकर से करने लगे थे. रानू सिंगिंग रियलिटी शो सुपरस्टार्स सिंगर्स के मंच पर नजर आईं. जहां हिमेश ने उन्हें अपनी फिल्म में गाने का मौका दिया.

जब रानू से सवाल पूछा कि  अब जबकि वह सफलता के शिखर पर पहुंच गई हैं. ऐसे में क्या अपने बच्चों के पास वापस जाएंगी. तो रानू ने कहा, ‘फिलहाल सब कुछ ठीक हो रहा है. ईश्वर की मर्जी अगर होगी अगर ईश्वर चाहेंगे तो मैं बच्चों के पास वापस जा सकती हूं. हम फिर से एक हो सकते हैं.’

Support Us

वीके न्यूज़ बिना कार्पोरेट मदद और फंडिग से चलने वाला संस्थान हैं. निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के लिए हमें मदद करें.