बिमारियों से बचने का सबसे पहला तरीका शरीर को साफ रखना होता है, क्योंकि जितना बिमारीयों से बचने के लिए घरों की सफाई की जाती है, उससे कहीं ज्यादा ज़रुरी है, कि शरीर को साफ रखा जाए। नहाकर तो आप अपने शरीर की गंदगी दूर कर लेते हैं, लेकिन कान एक शरीर का ऐसा पार्ट है, जिसे आसानी से साफ नहीं किया जा सकता। इसके लिए कई लोग इयर क्लीनिंग या फिर तिल्ली में कॉटन लगाकर सफाई करते हैं, जो तरीके बेहद ही गलत है। लेकिन अब एक ऐसा तरीक प्रचलन में आया है, जो बेहद फायदेमंद तो है, लेकिन खतरनाक भी। जिसे ईयर कैंडलिंग कहते हैं।

जरुर पढ़ें:  एचएएल का मिराज2000लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्‍त
Demo Pic-Ear Candeling

आजकल सैलून और ब्यूटी पार्लर में ईयर कैंडलिंग का बेहद चलन है, इसका प्रयोग कान का मैल निकलने के लिए किया जाता है। प्राचीन इजिप्ट में ईयर कैंडलिंग की प्रक्रिया बहुत पॉपुलर रही है। हालांकि इसे भी सुरक्षित नहीं माना जाता है, लेकिन ये तरीका बेहद ही फायदेमद होता है। तो चलिए बताते हैं, कैसे की जाती है ईयर कैंडलिंग।

ऐसे की जाती है, ईयर कैंडलिंग

कानों का मैल दूर करने के लिए ईयर कैंडलिंग का तरीका काफी पुराना है, फिर इसके बारे में बेहद ही कम लोग जानते होंगे, कि कानों को साफ करने का ये तरीका भी होता है। ईयर कैंडलिंग एक ऐसा तरीका है, जो आपके कान के मैल को अच्छे से साफ कर देता है। इसके लिए पहले कान को टिशु पेपर से कवर करना पड़ता है और फिर कैंडल जलाई जाती है, इसमे मोमबत्ती का एक कोना कान के अंदर होता है, और दूसरा पर कैंडल जल रही होती है।

जरुर पढ़ें:  कंगना की फिल्म 'मेंटल है क्या' के पोस्टर पर दीपिका के फाउंडेशन ने की आलोचना, बहन रंगोली ने दिया जबाव
Demo Pic-Ear Candeling

इस तरीके से जल रही मोमबत्ती से नीचे की तरफ भाप आती है, जो सीधा कान में जाती है जिससे कान का मैल गर्म हो जाता है और पिघल कर बाहर आ जाता है, ये तरीका अक्सर उन्हीं लोगों के लिए अपनाया जाता है, जिनके कानों में खुजली और जलन होती है। लेकिन ये तरीका कोई घरेलू तरीका नहीं है, क्योंकि बिना पूरी जानकारी के इसे घर में करना खतरनाक हो सकता है।

Support Us

वीके न्यूज़ बिना कार्पोरेट मदद और फंडिग से चलने वाला संस्थान हैं. निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के लिए हमें मदद करें.