प्याज के बढ़ते दाम आजकल आसमान छू रहे हैं. लोगों की थालियों में प्याज नहीं है लेकिन लोगों के आंसुओं में प्याज देखा जा सकता है. महंगाई इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि लोगों को प्याज नसीब नहीं हो रहा है. हालात इतने खराब हो चुके हैं कि अब पैसे नहीं बल्कि प्याज चोरी की खबरे आम हैं. आपने सुना होगा कि चोरों ने ट्रक से प्याज तो चोरी हुए लेकिन चोरो ने पैसों से भरे बॉक्स को हाथ भी नहीं लगाया. अगर ये खबर सुनकर आप चौक गए हैं तो अगली खबर आपके होश फाख्ता कर देगी. आप प्याज चोरी की खबरें तो लगातार सुन रहे होंगे लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि किसी ने अपने प्याज को बचाने के लिए बैंक के लॉकर में रखा दिया हो. और तो और लोग अपना सामान गिरवी रखकर और आधार कार्ड दिखाकर प्याज लोन पर ले रहे हो. आपको ये खबर गलत लग रही होगी और इस पर विश्वास नहीं हो रहा होगा. तो अब विश्वास कर लीजिए क्योंकि ये बदलते भारत की तस्वीर है.

जरुर पढ़ें:  आजम खां पर कसा कानून का शिकंजा, पत्नी और बेटे के साथ भेजे गए जेल

जहां प्याज की कीमते 100 का आंकड़ा कब का पार कर चुकी हैं. और लगातार बढ़ती कीमतों ने घर के रसोई का बजट बिगाड़ कर रख दिया है. इसी कड़ी में वाराणसी से एक चौकाने वाली खबर आई है.  जहां महिलाएं अपनी पायल गिरवी रखकर प्याज ले रही हैं. दरअसल प्याज के दामों में उछाल के खिलाफ एक अनोखा प्रदर्शन किया गया. वाराणासी के सुंदरपुर में समाजवादी युवजन सभा के कार्यकर्ताओं ने ज्वैलरी की जगह तिजोरी में प्याज रखा.

साथ ही प्याज के महत्व को बताते हुए लोन पर प्याज देने का प्रदर्शन किया. इतना ही नहीं प्याज लेने के लिए लोगों ने आधार कार्ड भी दिखाया. प्याज के बढ़ते दामों को देखकर तो ऐसा लगने लगा है कि आने वाले दिनों में प्रदर्शन के तौर पर नहीं बल्कि वास्तव में प्याज लॉकर में रखना पड़ेगा. क्योंकि इसकी कीमतो में उछाल ने आम आदमी की कमर तोड़ कर रख दी है. आपको क्या लगता है प्याज की कीमतो में उछाल के लिए कालाबाजारी जिम्मेदार है या फिर सरकार. कमेंट करके हमें बताए और वीडियो पसंद आया हो तो लाइक करें शेयर करें. और अगर चैनल को सब्सक्राइब नहीं किया हो तो तुरंत करें.

जरुर पढ़ें:  प्याज की आसमान छूती कीमतों पर मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला|

 

 

Support Us

वीके न्यूज़ बिना कार्पोरेट मदद और फंडिग से चलने वाला संस्थान हैं. निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के लिए हमें मदद करें.